108 कन्याओं की पूजा, महाप्रसाद, इस्सयोग का अनुष्ठान संपन्न

108 कन्याओं की पूजा, महाप्रसाद, इस्सयोग का अनुष्ठान संपन्न

108 कन्याओं के पूजन व महाप्रसाद के साथ अंतर्राष्ट्रीय इस्सयोग समाज का 26 सितम्बर से आरंभ देवी-आराधना का अनुष्ठान मंगलवार को संपन्न हो गया।

१०८ कन्याओं के पूजन और महाप्रसाद के साथ, अंतर्राष्ट्रीय इस्सयोग समाज के तत्त्वावधान में विगत २६ सितम्बर को आरंभ हुए देवी-आराधना का अनुष्ठान मंगलवार को तीसरे पहर संपन्न हो गया। संस्था की अध्यक्ष और ब्रह्मनिष्ठ सदगुरुमाता माँ विजया जी की दिव्य उपस्थिति में, इस्सयोग की इन सभी साधिका कन्याओं को, इस्सयोगी-स्त्रियों ने विधिपूर्वक पाद-प्रच्छालन कर, उनको तिलक लगाकार और चुनरी ओढ़ाकर, उनकी अभ्यर्थना की और हलवा-पूड़ी और चने की शब्जी का भोग अर्पित किया।

यह जानकारी देते हुए, संस्था के संयुक्त सचिव डा अनिल सुलभ ने बताया है कि जिन पात्रों अथवा वर्तनों में पूजित कन्याओं को भोग अर्पित किया गया, वे सभी पात्र कन्याओं को भेंट स्वरूप दे दी गयी। भोजन के पश्चात सभी कन्याओं को इस्सयोगियों द्वारा भोजन-दक्षिणा के रूप में राशि एवं अन्य उपहार भेंट किए गए।
संस्था के गोला रोड स्थित एम एस एम बी इस्सयोग भवन में संपन्न हुए इस कन्या-पूजन के पूर्व दो घंटे का अखण्ड भजन-संकीर्तन और सदगुरुदेव, गुरुमाँ, महादेवी एवं सदगुरु महादेव की आरती की गई। इसके पूर्व कंकड़बाग स्थित गुरुधाम में पूर्णाहुति के भजन और आरती के साथ ९ दिवसीय इस पूजनोत्सव का समापन हुआ।
इस अवसर पर संस्था के संयुक्त सचिव उमेश कुमार, अनंत कुमार साहू, सरोज गुटगुटिया, श्रीप्रकाश सिंह, कपिलेश्वर मण्डल, मंजू देवी,किरण झा, गायत्री कृष्ण मोहन राय, अजित कुमार पटनायक, चौरसिया चंद्र शेखर आज़ाद, किरण प्रसाद, मीरा देवी, आनंद कुमार खरे, प्रभात चंद्र झा, ममता जमुआर, राकेश कुमार, राजीव कुमार, रविकान्त, संगीता राधेश्याम ठाकुर, बीरेन्द्र राय, किरण प्रसाद, गायत्री प्रदीप, गीता देवी, आर के गुप्ता, रवि प्रभाकर, आदि संस्था के अधिकारी, स्वयंसेवक और बड़ी संख्या में इस्सयोगी साधकगण उपस्थित थे।

झूठ का मुंह काला…! झूठ से लड़ने के कारण नोबेल की रेस में जुबैर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*