1742 करोड़ की लागत से गांधी सेतु का होगा पुनर्निर्माण

केंद्र सरकार ने उत्तर और दक्षिण बिहार को जोड़ने वाले जर्जर महात्मा गांधी सेतु का 1742 करोड़ रुपये की लागत से पुनर्निर्माण कराने तथा इसे चार लेन में बदलने का निर्णय लिया है।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक समिति की बैठक में बरसों से लंबित परियोजना के लिए कुल 1742.01 करोड़ रुपये की केंद्रीय राशि की मंजूरी दी गई। gandhi st

 

प्रधानमंत्री के विशेष पैकेज का हिस्‍सा

बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संवाददाताओं को बताया कि 5.57 किलोमीटर में इस पुल का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि गंगा नदी पर बना यह पुल बहुत ही महत्वपूर्ण है, लेकिन इसके जर्जर हो जाने के कारण इस पर लगातार जाम की समस्या बनी रहती है। बिहार सरकार काफी लंबे समय से इस पुल का केंद्रीय राशि से निर्माण कराये जाने की मांग कर रही थी।  श्री जेटली ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बिहार पैकेज की जो घोषणा की थी, महात्मा गांधी सेतु उसका हिस्सा था।  मंत्रिमंडल ने कर्नाटक में राष्ट्रीय राजमार्ग 63 पर हुबली-हासपेट को चार लेन का बनाने का भी निर्णय लिया है। इस पर 2272.20 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे।

 

सरकार ने कपड़ा एवं सिले-सिलाये वस्त्रों के निर्यात को बढ़ावा देने और रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए इस क्षेत्र को छह हजार करोड़ रुपये का विशेष पैकेज दिया है। इस विशेष पैकेज से अगले तीन वर्षों में एक करोड़ लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा सकेगा, जिनमें 70 प्रतिशत महिलाएं होंगी। गारमेंट उद्योग में एक करोड़ रुपये के पूंजी निवेश से 70 लोगों को रोजगार मिलता है, जबकि स्टील क्षेत्र में केवल 10 एवं ऑटोमोबाइल क्षेत्रों में अधिक से अधिक 25 लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*