निषाद अधिकार मार्च में उत्पात, 12 पुलिसकर्मी व 40 प्रदर्शनकारी घायल

निषाद अधिकार मार्च के दौरान प्रदर्शनकारियों ने भारी उत्पात मचाया और पुलिसकर्मियों पर जम कर रोड़ेबाजी कि. घायल जवानों ने जवाबी कार्रवाई में लाठी चार्ज करना पड़ा.

 निषाद अधिकार मार्च में उत्पात- फोटो शेखर

निषाद अधिकार मार्च में उत्पात- फोटो शेखर

नौकरशाही न्यूज

प्रदर्शनकारियों के पत्थराव से 12 पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर है. जबकि पुलिस लाठी चार्ज में भी 40 से अधिक लोगों के जख्मी होने की सूचना है.

इस दौरान निषाद अधिकार मार्च के नेता मुकेश सहनी समेत 20 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

, मुकेश सहनी अपने समर्थकों के साथ जेपी चौराहे पर सड़क जाम कर प्रदर्शन कर रहे थे. इस दौरान पुलिस ने इन्हें समझाने की कोशिश की लेकिन इसी दौरान लोगों ने बैरिकेडिंग को तोड़ दिया और पुलिस पर पत्थराव करने लगे.

घायलों को पीएमसीएच में इलाज के लिए भेजा गया है.

प्रदर्शनकारियों के तेवर से लग रहा था कि उन्होंने पहले से ही तय कर लिया था कि वे पुलिस वालों के साथ भिड़ेंगे.

हालात बेकाबू होने के बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया और बाद में आंसू गैस के गोले छोड़े. स्थिति बिगड़ती देख पुलिस ने हवाई फायरिंग की, जिसके बाद लोग भागने लगे।

गौरतलब है कि निषाद अधिकार मार्च के द्वारा निषाद जाति में आने वाली तमाम उपजातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने की मांग की जा रही है. इससे पहले भी अनेक बार इस संगठन ने सभा आयोजित कर अपनी मांग रखी है. इसी क्रम में निषाद अधिकार मंच ने यह मार्च निकाला था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*