27 महीने बाद आजम रिहा, सपा ही नहीं, कांग्रेस ने भी किया स्वागत

27 महीने बाद आजम रिहा, सपा ही नहीं, कांग्रेस ने भी किया स्वागत

दो साल तीन महीने बाद आज सपा नेता आजम खान जेल से रिहा हो गए। समाजवादी पार्टी ही नहीं, कांग्रेस के भी बड़े नेताओं ने रिहाई पर खुशी जताई।

यूपी में समाजवादी पार्टी के बड़े नेता आजम खान आज 27 महीने बाद जेल से रिहा हो गए। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने उनकी रिहाई पर खुशी जताई। यही नहीं कांग्रेस के भी कई बड़े नेताओं से रिहाई का स्वागत किया। आजम खान की रिहाई का यूपी की राजनीति पर असर पड़ना तय है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा, पार्टी के वरिष्ठ नेता व विधायक मा. श्री आज़म ख़ान जी के जमानत पर रिहा होने पर उनका हार्दिक स्वागत है। जमानत के इस फ़ैसले से सर्वोच्च न्यायालय ने न्याय को नये मानक दिये हैं। पूरा ऐतबार है कि वो अन्य सभी झूठे मामलों-मुक़दमों में बाइज़्ज़त बरी होंगे। यूपी कांग्रेस के नेता और अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी ने भी आगे बढ़कर आजम खान की रिहाई का स्वागत किया। उन्होंने कहा- जौहर युनिवर्सिटी के संस्थापक पूर्व मंत्री जनाब आज़म ख़ान साहब आज जेल से रिहा हो गये हैं, माननीय उच्चतम न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद उन्हें रिहाई नसीब हो पाई, मौजूदा दौर की सरकारें इंसाफ़ को कुचलने के लिये किसी भी हद तक जा रही हैं, मुत्तहिद रहिये, इंसाफ़ के लिये लड़ते रहिये। अखिलेश यादव और इमरान प्रतापगढ़ी के बयानों में बड़ा फर्क यह है कि प्रतापगढ़ी ने आजम खान की रिहाई का स्वागत करते हुए भाजपा सरकारों को भी निशाने पर लिया।

आजम खान की रिहाई सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप पर हुई। सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा था कि यह क्या तरीका है कि किसी को एक मामले में बेल मिलती है, तो उसके बाहर निकलने से पहले ही दूसरा केस कर दिया जाता है। उन पर 78 मामले दर्ज हैं। कोर्ट ने कहा था कि कोई व्यक्ति दो-चार मामलों में संलग्न हो सकता है, लेकिन 78 मामलों में कैसे संलग्न हो सकता है?

लालू के घर छापा : जातीय जनगणना पर नर्वस हो गई भाजपा!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*