33 हजार करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्‍यास और उद्घाटन किया पीएम ने

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुनियादी ढ़ांचे के विकास तथा शोषितों-वंचितों के जीवन को आसान बनाने वाली योजनाओं को ‘नये भारत की निर्माण यात्रा’ की ‘दो पटरी’ बताया और कहा कि केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार की विकास यात्रा इन्हीं दो पटिरयों पर एकसाथ चल रही है।

श्री मोदी ने बरौनी में रिमोट कंट्रोल के जरिये 13365 करोड़ रुपये की पटना मेट्रो परियोजना समेत कुल 33 हजार करोड़ रुपये से अधिक की योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन करने के बाद समारोह को संबोधित करते हुये कहा कि राजग सरकार की विकास यात्रा दो पटरियों पर एकसाथ चल रही है। पहली पटरी बुनियादी ढांचे से जुड़ी योजनाओं एवं लोगों को आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराना तथा दूसरी पटरी शोषितों-वंचितों एवं पीड़ितों के जीवन को आसान बनाना है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 70 वर्ष से मूलभूत सुविधाओं के लिए संघर्ष कर रहे और उन सुविधाओं से वंचित भाई-बहनों के लिए पक्के घर बनाना, उनकी रसोई को धुएं से मुक्त करना, गैस कनेक्शन देना, उनके घरों को बिजली से रोशन करना, शौचालयों का निर्माण, उनको इलाज की सुविधा देना, दवाई का खर्च बचाना, बेटियों की शिक्षा की व्यवस्था करने की योजनाएं उनकी सरकार ने चलाई है। उन्होंने कहा कि न्यू इंडिया का रास्ता इन्हीं दो पटरियों से होते हुए गुजरता है।

श्री मोदी ने कहा कि बिहार समेत पूर्वी भारत का कायाकल्प करने के उद्देश्य से आज शुरू की गई अनेक परियोजनाओं में एक प्रधानमंत्री ऊर्जा योजना भी है, जिसके माध्यम से उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओडिशा को गैस पाइप लाइन से जोड़ा जा रहा है। इस योजना के पहले चरण में जगदीशपुर-पटना गैस पाइप लाइन का लोकार्पण कर दिया गया है। उन्होंने कहा, “आपको याद होगा कि लगभग साढ़े तीन साल पहले जुलाई 2015 में पटना से ही मैंने इसकी आधारशिला रखी थी। गैस पाइपलाइन की सुविधा को आगे बढ़ाते हुए हल्दिया-दुर्गापुर एलपीजी पाइपलाइन का भी विस्तार मुजफ्फरपुर-पटना तक किया जा रहा है, जिसका शिलान्यास भी आज किया गया।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*