4-17 फरवरी तक आयोजित होगा 23वां पटना पुस्तक मेला, लेगेगी कार्यशालाओं की झड़ी

23 वां पटना पुस्तक मेला  कुशल युवा, सफल बिहार थीम के साथ इस बार 4-17 फरवीर तक गांधी मैदान में आयिजत किया जायेगा. पुस्तक मेला से जुड़े पदाधिकारियों ने इस बात की जानकारी एक प्रेसकांफ्रेंस में दी है.pustak.mela

पुस्तक मेले का आयोजन सेंटर फॉर रीडरशिप डेवलपमेंट (सीआरडी) करता है. प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए पटना पुस्तक मेले के संयोजक अमित झा, सीआरडी के अध्यक्ष रत्नेश्वर और सचिव अमरेंद्र झा ने मेले के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

इस बार पटना पुस्तक मेला में अनेक कार्यक्रमोॆ का समावेश किया गया है। यथा स्कली बच्चों क लिए विविध् प्रतियोगिताए, कार्यशालाए और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। कार्यशाला के अंतर्गत लब्ध्प्रतिष्ठ कवि और कथाकार कविता लेखन और कहानी लेखन के  बारे मे बच्चों को इसकी बारीकियों से अवगत करायेंगें.

कार्यशाला में गीतकार राजशेखर और कथाकार चिल्ड्रेन बुक ट्रस्ट की सुमन वाजपेयी अतिथि विशेषज्ञ के रूप में भाग लेंगी।

‘नई किताब’ इस कार्यव्रफम में देश के लेखकों द्वारा लिखी सद्यः प्रकाशित पुस्तक पर परिचर्चा का आयोजन किया जाएगा।
पटना पुस्तक मेला के  ‘जनसंवाद’ और ‘काॅपफी हाउस’ में प्रतिष्ठित लेखक, पत्राकार, कवि और कथाकार आमंत्रित
इसी प्रकार ‘काॅपफी हाउस’ के तहत प्रतिष्ठित लेखिका डाॅ उषा किरण खान से वार्तालाप का कार्यव्रफम आयोजित किया जाएगा।
पटना पुस्तक मेला के अन्य आकर्षण में साहित्यिक पत्रिका ‘पाखी’ के सौजन्य से ‘पाखी परिचर्चा’ होगी.
इसके अलावा नौकरशाही डाॅट-काॅम के साथ मख्यधरा ;मेनस्ट्रीम मीडिया बनाम वैकल्पिक मीडिया पर परिचर्चा का आयोजन किया जाएगा।

सीआरडी पटना पुस्तक मेला की ओर से हर वर्ष किये जाने वाले साहित्य के लिए विद्यापति पुरस्कार पत्राकारिता के लिए सुरेन्द्र प्रताप पुरस्कार दिये जायेंगे. मेले में देश भर के 250 से ज्यादा प्रकाशन अपने स्टाल लगायेंगे.

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*