48 दिनों बाद बच्चा नहीं, बच्चे का शव मिला, बोरे में ले गई पुलिस

48 दिनों बाद बच्चा नहीं, बच्चे का शव मिला, बोरे में ले गई पुलिस

नवादा में घर के बाहर खेलता 5 साल का बच्चा गायब हो गया। माता-पिता थाने से एसपी ऑफिस तक दौड़ते रहे। कल शव मिला। शव को स्ट्रेचर पर नहीं, बोरे में ले गई पुलिस।

नवादा में पांच साल के तालिब का शव बरामद होने के बाद गम में डूबे लोग

नवादा जिले के पकरीबरामा के मो. वाहिद का पांच साल का बेटा तालिब स्कूल से घर आया और फिर थोड़ी देर में बाहर खेलने गया, तो नहीं लौटा। वाहिद थाने से लेकर पुलिस अधीक्षक के कार्यालय तक दौड़ते रहे। अब 48 दिनों बाद घर से थोड़ी दूरी पर एक निर्माणाधीन मकान की टंकी से बच्चे का शव मिला। शव को ले जाने के लिए पुलिस ने स्ट्रेचर तक का इंतजाम नहीं किया और बोरे में ले गई। स्थानीय लोगों ने शव के साथ अपमानजनक व्यवहार कहा है।

मो. वाहिद ने पुलिस अधीक्षक से पुत्र की बरामदगी के लिए विशेष पुलिस दल गठित करने की गुहार लगाई थी। उन्होंने एसपी को दिए आवेदन में अपहरण की आशंका जताई थी। लेकिन पुलिस समय रहते कुछ नहीं कर सकी। इससे पूरे इलाके में होली के मौके पर भी गम का माहौल है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि बच्चे के माता-पिता साधारण परिवार से हैं, इसलिए पुलिस ने तत्परता नहीं दिखाई।

मो. वाहिद ने पुलिस अधीक्षक को लिखे पत्र में स्थानीय पुलिस की सुस्ती पर भी सवाल उठाया था। उन्होंने लिखा था- पकरीबरामा पुलिस के सुस्त रवैया से हम लोग संतुष्ट नहीं हैं। इस संबंध में 28 जनवरी को ही पकरीबरावां थाना में मामला दर्ज कराया गया है जिसका कांड संख्या 27-2022 है। लेकिन पुलिस अभी तक मेरे पुत्र को बरामद करने में नाकाम रही। हमलोग काफी परेशान हैं। हम लोग अपने तौर पर भी हर जगह तलाश कर रहे हैं, लेकिन मेरे पुत्र का कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है। मुझे अब पूर्ण विश्वास हो गया है कि मेरे पुत्र का अपहरण कर लिया गया है जिसके कारण बच्चे का कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है। अतः आपसे प्रार्थना है कि मेरे पुत्र की बरामदगी के लिए एक पुलिस टीम का गठन करें ताकि मेरे बच्चे का सकुशल वापसी हो सके।

अब देखना है पुलिस हत्यारों को जल्द गिरफ्तार करती या इसमें भी सुस्त रहती है।

शायद अकेली ताई मां बोलीं-होली में पर्यावरण नहीं, क्रोध नष्ट करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*