Advantage ई-मुशायरा सीरीज-3 सफलतापुर्वक सम्पन्न

पटना, 29 जून 2020 Advantage Literary Festival और अदबी संगम, नई दिल्ली ने 28 जून को शाम 7.30 बजे से रात 10 बजे तक डिजिटल प्लेटफॉर्म Zoom पर Advantage internationa E Mushaira का आयोजन किया।

अंतर्राष्ट्रीय मुशायरा  में, खुशबीर सिंह शाद, डॉ असीम वस्ती, मदन मोहन दानिश, डॉ। नदीम शाद, अलीना शादाब , मोईन शादाब ने अपने काव्यों का पाठ किया और श्रोताओं से खूब प्रशंसा प्राप्त की। एडवांटेज लिटरेरी फेस्टिवल और अदबी संगम , नई दिल्ली द्वारा आयोजित यह मुशायरा ऐतिहासिक साबित हुआ/उस्ताद  कवियों ने ज़ूम प्लेटफॉर्म पर पूरी दुनिया में उर्दू प्रशंसकों का दिल जीता।

देश में विख्यात हो चुके Advantage Literary Festival में Sabri Brothers ने मचा दी धूम

 यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि ज़ूम प्लेटफॉर्म पर आयोजित मुशायरा को न केवल विश्व स्तर पर देखा गया था, बल्कि कवियों को लाइव वाह और टिप्पणी बॉक्स में बहुत प्रोत्साहित किया गया था।

एडवांटेज इंटरनेशनल ई-मुशायरा-3 की शुरुआत विशिष्ट अतिथि के रूप में क़ौमी तंज़ीम  के प्रधान संपादक एसएम अशरफ फरीद के स्वागत भाषण से हुई। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि करुणा जैसे खतरनाक महामारी के इस युग में, परेशान मानवता के मन की शांति के लिए एडवांटेज लिटरेरी फेस्टिवल द्वारा उठाये गए क़दम सराहनीय हैं।

अज़ीमाबाद यानी पटना उर्दू शायरों का गढ़ रहा है, शाद अजीमाबादी, बिस्मल अजीमाबादी, अल्लामा जमील मज़हरी, डॉ कलीम आजिज़ जैसे महत्वपूर्ण और सम्मानित कवियों ने उर्दू दुनिया में अपनी प्रतिभा साबित की।

खुशबीर सिंह शाद साहब गंगा और जमनी सभ्यता के अग्रणी रहे हैं।

डीडी बिहार की एंकर शादमा हसन ने शानदार तरीके से इस मुशायरा की एंकरिंग की। मोमबत्ती जलाकर मुशायरा की शुरुआत की और कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कोरोना वारियर्स को प्रोत्साहित किया। मोइन शादाब ने इसे शानदार ढंग से संचालन  किया। धन्यवाद ज्ञापन कोर कमेटी के सदस्य एजाज हुसैन ने दिया।

एडवांटेज सपोर्ट के सचिव खुर्शीद अहमद ने कहा कि चूंकि कोरोना के चलते तालाबंदी लगा हुआ था, ऐसे में हमने मुशायरा आयोजित कर लोगों को मानसिक शांति देने की कोशिश की है। यह  ई-मुशायरा  बहुत सफल रहा। यह हमारी टीम के विचार से अधिक सफल हुआ।

उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय ई-मुशायरा इसकी आठवाँ कड़ी है। एडवांटेज सपोर्ट ने साहित्य और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए जुलाई 2019 में एक साहित्यिक समारोह का शुभारंभ किया। इस एपिसोड में पहली बार एक महान अमेरिकी लेखक, कवि और गीतकार फरहत शहजाद ने भाग लिया था।

दूसरे एपिसोड में, बॉलीवुड लेखक, कवि और गीतकार ए.एम. तराज़ ने पटना के लोगों के साथ साहित्य और सभ्यता के बारे में विस्तृत चर्चा की। तीसरे एपिसोड में, बॉलीवुड कलाकार मनोज मुन्तशिर ने पटना के लोगों का दिल जीत लिया।

हम अगले 2 महीनों के लिए इस आभासी कार्यक्रम को बंद कर रहे हैं, लेकिन हम अलग-अलग प्रारूपों पर काम कर रहे हैं। साहित्यिक त्योहार का लाभ बेहतर और सुंदर अभिव्यक्ति के साथ मिलेगा।

31 मई, 2020 – ई-मुशायरा श्रृंखला 2, 7 जून, 2020 – कव्वाली, 14 जून 2020 – स्टाइल, स्टेटमेंट, 21 जून 2020 – महफिल ए ग़ज़ल, 28 जून 2020 – ई मुशायरा सीरीज़ 3, मीडियम जिसका इस्तेमाल हमने इस त्योहार के लिए किया हैः ज़ूम लाइव, फेसबुक लाइव, यूट्यूब लाइव, समाचार पोर्टल, समाचार पत्र, टीवी चैनल, इंस्टाग्राम, ट्विटर। उन्होंने कहा कि 23 कलाकारों और 5 एंकरों ने चार सप्ताह में प्रदर्शन किया। 41,000 दर्शकों में से 3.8 मिलियन तक पहुंचना अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है।

इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए एडवांटेज लिटरेरी फेस्टिवल कोर कमेटी के सदस्य फैजान अहमद, ओबेदुर रहमान, फहीम अहमद, डॉ. वकार अहमद, अहमद साद, एजाज हुसैन, शिव चतुर्वेदी, अनवर जमाल, षोमेला तहजीब, अनवारूल होदा, अध्यक्ष डाॅ. ए.ए. हई तथा सचिव खुर्षीद अहमद की देखरेख में आयोजन की तैयारी कर रहे हैं।

एडवांटेज लिटरेरी फेस्टिवल का आयोजन करने वाली कंपनी एडवांटेज सपोर्ट एडवांटेज ग्रुप की सी.एस.आर कंपनी है। इस कंपनी के ट्रस्टी डॉ. ए.ए. हई, डॉ. रंजना कुमारी, संजीव बोस, राजीव सोनी, संजय सलिल, खुर्शीद अहमद, सैयद सुलतान अहमद, राजीव रंजन, ओवी षेलवेन, सैयद सबा करीम और चंद्रमणि सिंह हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*