मायावती ने कहा अकेले लड़ेगी बसपा, अब अखिलेश क्या बोले

मायावती ने कहा अकेले लड़ेगी बसपा, अब अखिलेश क्या बोले

मायावती ने कहा अकेले लड़ेगी बसपा, अब अखिलेश क्या बोले। पहले सपा बसपा के साथ जाने को तैयार नहीं थी। अब अखिलेश ने कही नई बात।

बसपा प्रमुख मायावती ने कल साफ कर दिया कि उनकी पार्टी बसपा लोकसभा चुनाव अकेले लड़ेगी। उनके इस बयान के बाद हंगामा होगा। अगर वे अकेले लड़ेंगी, तो दो बातें तय मानी जा रही है। एक कि मायावती एक भी सीट नहीं जीत पाएंगी और दूसरा कि इंडिया गठबंधन को भी भारी नुकसान होगा और भाजपा को भारी लाभ होगा। मायावती ने जो तर्क दिया, वह किसी के गले नहीं उतर रहा। मायावती ने कहा कि समझौता होने से मेरे वोट ट्रांसफर हो जाते हैं, लेकिन दूसरे के वोट नहीं मिलते। जबकि सच्चाई इसके विपरीत है। 2019 में सपा और बसपा का तालमेल था। तालमेल में बसपा के दस सांसद बने वहीं सपा के सिर्फ पांच। वह भी उनके गढ़ मौनपुरी आदि में।

अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा कि वे चाहते हैं कि लोकसभा चुनाव में सारे दल एक साथ मिल कर चुनाव लड़ें। सभी विपक्षी दलों में एकजुटता होनी चाहिए। यह सपा पहले मायावती और बसपा से परहेज कर रही थी। खबरें आई थीं कि सपा ने साफ कर दिया था कि अगर इंडिया गठबंधन में बसपा को लिया गया, तो सपा बाहर हो जाएगी। अब जबकि मायावती ने अकेले लड़ने की घोषणा कर दी है, तब अखिलेश यादव एकता की बात कर रहे हैं। पिछले दिनों अखेलिश यादव ने यह भी कहा था कि उनकी गारंटी कौन लेगा कि वे लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा के साथ नहीं जाएंगी।

एक खबर के अनुसार मंगलवार को अखिलेश यादव ने यहां तक कहा कि वे मायावती को प्रधानमंत्री बनाना चाहते थे। सपा प्रमुख ने बाराबंकी में एक कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से कहा कि समाजवादियों की कोशिश रहेगी सभी दलों को जोड़ने का प्रयास हो। हमारी कोशिश लगातार रहेगी कि INDIA गठबंधन कैसे मजबूत हो और सभी दल जुड़ें।”

बाराबंकी में अखिलेश यादव ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमले किए। कहा जनता दु:खी है इस सरकार से, महंगाई रोक नहीं पा रहे हैं, बेरोजगारी रोक नहीं पा रहे हैं, हमारी सीमाएं असुरक्षित है, हमारे जवान शहीद हो रहे हैं, किसान आत्महत्या कर रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी ने जो नई भर्ती की है सांड वाली ट्रैफिक में वह हर सड़क पर दिखाई दे रहा है। यह पहली बार हो रहा है कि किसान को अपने खेतों की रखवाली के लिए तार लगाना पड़ रहा। प्रधानमंत्री ने कहा कि जानवरो की समस्या का समाधान करेंगे बताओ 2 साल हो गए कहां हो गया समाधान?

शंकराचार्य ने कर दिया बड़ा खुलासा, सकते में भाजपा