सपा के पांच MLA ने की क्रॉस वोटिंग, अखिलेश बोले कार्रवाई होगी

सपा के पांच MLA ने की क्रॉस वोटिंग, अखिलेश बोले कार्रवाई होगी। ये लोग क्या मुंह लेकर जनता में जाएंगे। सरकार के खिलाफ खड़ा होने के लिए साहस चाहिए।

उप्र में राज्यसभा चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी के पांच विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव यादव ने कहा कि तीसरे सीट के चुनाव में सबकी पहचान हो गई। जिन लोगों ने पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ जाते हुए भाजपा को वोट दिया, उन पर सपा प्रमुख ने कहा कि सरकार के खिलाफ बोलने के लिए साहस चाहिए। ये विधायक डर गए होंगे। उन्होंने कहा कि स्रॉस वोटिंग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

उप्र से राज्यसभा चुनाव के लिए भाजपा सात प्रत्याशी आराम से जीता सकती थी, जबकि सपा को दो प्रत्याशी जिताने में कोई परेशानी नहीं थी। भाजपा ने आठवें प्रत्याशी के तौर पर बड़े कारोबारी संजय सेठ को मैदान में उतार दिया। सपा ने भी तीसरा प्रत्याशी खड़ा किया। तीसरे प्रत्याशी हैं पूर्व आईएएस आलोक रंजन। एक प्रत्याशी को 37 वोट की जरूरत थी। सपा के पास अतिरिक्त वोट थे। सिर्फ एक वोट से उसका तीसरा प्रत्याशी जीत जाता। उधर भाजपा के पास सिर्फ 18 वोट थे, उसे जीत के लिए 19 वोट की जरूरत थी, जो उसने हासिल कर लिया। भाजपा को रालोद के सभी वोट मिले। राजा भैया की पार्टी के दो वोट मिले। इसके बाद भी उसे आठ वोट कम पड़ रहे थे। तब सपा के 6 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की और दो विधायक अनुपस्थित हो गए। सपा के दो विधायक जेल में हैं। उन्हें जेल से आकर वोट देने की इजाजत नहीं मिली। और इस तरह सपा एक वोट जुगाड़ नहीं कर पाई जबकि भाजपा ने 19 वोट जमा कर लिए।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा जनता सब देख रही है। ये क्या मुंह लेकर जाएंगे जनता के सामने। गिनती वाले चुनाव में तो जीत सकते हैं लेकिन जनता वाले चुनाव में भाजपा नहीं जीत सकती। हर एक में साहस नहीं होता है कि सरकार के खिलाफ खड़ा हो जाए, सरकार के खिलाफ खड़ा होने के लिए साहस चाहिए। जो लोग गए हैं उनमें साहस नहीं रहा होगा। उन्होंने कहा कि कार्रवाई निश्चित होगी क्योंकि पार्टी के हमारे साथियों का मानना है कि ऐसे लोगों को दूर कर दीजिए।

चार दिनों में यूपी में ऐसी बदली हवा, पीछे छूट गया राममंदिर मुद्दा

By Editor