ऑटोमैटिक रायफल और 134 जिंदा कारतूस के साथ अपराधी गिरफ्तार

ऑटोमैटिक रायफल और 134 जिंदा कारतूस के साथ अपराधी गिरफ्तार

मुकेश कुमार,नौकरशाही मीडिया

गढ़वा(झारखंड)।जिले के चिनिया थाना के सरकी गांव में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए  बड़े पैमाने पर हथियार व असलहा बरामद किया गया है.

 

इस दैरान  एक सेमी ऑटोमैटिक रायफल,134 जिंदा कारतूस, 09 नन इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 01 स्वनिर्मित हैंड ग्रेनेट सहित अन्य आपराधिक सामग्री के साथ उमेश यादव नामक शातिर अपराधी को गिरफ्तार किया है।अपराधी के पास से नक्सली प्रयोग में लाये जाने वाले इन हथियारों की बरामदगी ने पुलिस की नींद उड़ा दी है।

एसपी के अनुसार इस गिरफ्तार अपराधी की नक्सली कनेक्शन की जांच की जा रही है।बता दें कि सरकी गांव का वितन यादव और उमेश यादव शातिर अपराधी के रूप में चिन्हित किये गए थे।उनके खिलाफ एसपी अभियान सदन कुमार और रंका एसडीपीओ मनोज कुमार महतो छापामारी कर रहे थे।इसी दौरान एसडीपीओ मनोज कुमार महतो को गुप्त सूचना मिली कि उमेश यादव अपने घर आया है।

एसडीपीओ ने आनन-फानन में पुलिस टीम गठित कर चिनिया थाना प्रभारी बुधराम समद और धुरकी थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार के साथ मिलकर सरकी गांव में छापामारी की।

बरामद सामान:

01 सेमी ऑटोमैटिक रायफल,
134 जिंदा कारतूस,
09 नन इलेक्ट्रिक डेटोनेटर,
01 स्वनिर्मित हैंड ग्रेनेट,
01 पीठ,
01 कला रंग का वर्दी हुआ बरामद।
अपराधी वितन ने गोली मारकर दो ग्रामीणों को किया था घायल
इतनी बड़ी कार्रवाई के बाद भी अपराधी वितन यादव पुलिस के
हत्थे नहीं चढ़ा।उसके पास भी सेमी ऑटोमैटिक रायफल है।
उसने कुछ दिन पूर्व चिनिया प्रखण्ड के डोल गांव में गोली मारकर दो ग्रामीणों पंकज साहू और उदय यादव को घायल कर दिया था।
उसके बाद से ही पुलिस उसकी खोजबीन कर रही है।गिरफ्तार
अपराधी उमेश यादव शातिर अपराधी वितन का प्रमुख सहयोगी बताया जाता है।
एसपी आश्वनी कुमार सिन्हा ने कहा कि गिरफ्तार अपराधी
उमेश यादव और फरार अपराधी वितन यादव का क्रिमिनल
रिकॉर्ड चेक किया गया, जिसमें इनका कहीं से भी नक्सलियों के
साथ सम्बन्ध का सबूत नहीं मिला।हालांकि बरामद हथियार की
जांच चल रही है।यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि
ये हथियार नक्सलियों के तो नहीं हैं।
नक्सल प्रभावित चिनिया क्षेत्र में इतने बड़े अपराधी गिरोह का
पनपना नक्सलियों के सफाए का संकेत है या अपराधी के वेष में
नक्सलियों का नया अवतार।यह पता लगाना पुलिस के लिए बड़ी
चुनौती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*