मांझी के महागठबंधन में जाने का असर कम करने के लिए अशोक आननफानन JDU में शामिल, बन सकते हैं मंत्री

जीतन राम मांझी के एनडीए छोड़ राजद वाले महागठबंध में शामिल होने की खबर राजनीतिक गलियारे में पहुंची तभी जदयू के दिग्गज नेता और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक चौधरी ने तय कर लिया कि अब अशोक चौधरी को जदयू में शामिल होने का ऐलान कर देना है. ऐसा ही हुआ.

नौकरशाही ब्यूरो

मांझी ने रात आठ बजते ही महागठबंधन में शामिल होने का ऐलान किया और उधर अशोक चौधरी ने 8.30 मिनट पर पत्रकारों के सामने घोषणा कर दी कि वह नीतीश कुमार के जदयू में शामिल हो रहे हैं. महज 30 मिनट के अंतराल पर बुलाई गयी प्रेस कांफ्रेंस में मजेदार यह रहा कि मांझी के आवास से निकल कर पत्रकारों की टोली ओशोक चौधरी के घर दौड़ पड़ी. समझा जाता है कि अशोक को नीतीश कुमार अपने मंत्रीमंडल में शामिल कर सकते हैं.

मांझी के एनडीए छोड़, राजद गठबंधन में शामिल होने के राजनीतिक और मीडियाई प्रभाव को कम करने की रणनीति समझा जा रहा है कि नीतीश कुमार ने बनाई और उन्होंने अशोक चौधरी को कहा कि अब देर करने की जरूरत नहीं. आज ही ऐलान कर दीजिए. हालांकि अशोक चौधरी ने साफ कहा कि वह अनकंडिशनल जदयू में शामिल हो रहे हैं. एक सिपाही की तरह काम करेंगे. मुझे क्या जिम्मेदारी मिलेगी इसकी चिंता मुझे नहीं.

अशोक चौधरी पिछले कई महीनों से जदयू में शामिल होने की चर्चा थी. लेकिन आज शाम को उनकी घोषणा गर्म निहाई पर हथौड़ा मारने की रणनीति का हिस्सा रही. अशोक चौधरी के साथ कांग्रेस के तीन विधान पार्षद भी जदयू में गये हैं. चौधरी की राजनीतिक औकात के बारे में मीडिया में जो कयास लगाये जा रहे थे, वह बिल्कुल निराधार साबित हुए. चर्चा की जा रही थी कि कांग्रेस के 14 एमएलए उनके साथ हैं. पर एक भी कांग्रेसी एमएलए टस से मस नहीं हुआ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*