होली पर उत्पात से सहमे हैं जमुई, औरंगाबाद के अल्पसंख्यक दंगाइयों ने मचाया उत्पात, पटना में पत्थरबाजी

होली के अवसर पर जहां हर समुदाय के लोग आपस में गले मिल कर एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं वहीं बिहार के जमुई और औरंगाबाद से अल्पसंख्यकों के घरों में उत्पात मचाने की खबर है.जिससे अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों में दहशत है.उधर पटना के आलमगंज के पत्थरी घाट में दो गुटों में पत्थरबाजी होने की सूचना है.

फाइल फोटो

सिकन्दरा थाना क्षेत्र के जखड़ा गांव में जबरन घुसकर गाली गलौज एवं आगजनी की गयी । जिस समय असमाजिक तत्तवों ने गांव में घुसकर आगजनी और गाली गलौज करना शुरू किया उस समय मुस्लिम समुदाय के लोग सो रहे थे। शोर शराबा और आगजनी की आवाज सुनकर गांव के लोग आनन फानन में उठे और अपना बचाव करने लगे।

औरंगाबाद में उत्पात

उधर औरंगाबाद के गरुआ के एरू पिड़वा गांव में चार घर मुस्लिम हैं जहां दो होली के दिन दो पहर में उत्पाती पहुंच गये और घरों पर हमला कर दिया. वहां पुलिस भी पहुंची लेकिन पुलिस ने रोकने की कोशिश नहीं की. वहां की  डरी समही महिला ने इस बात की जानकारी  बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जौहर आजाद को फोन पर  दी उसे आप नौकरशाही मीडिया के यूट्यूब चैनल पर सुन सकते हैं.
इस बीच जौहर आजाद ने इस मामले की जानकारी औरंगाबाद के एसपी को फोन पर दी. एसपी से बातचीत नौकरशाही मीडिया के यू ट्यूब चैनल पर सुनी जा सकती है.
एसपी ने इस मामले में त्वरित कार्वाई करने का आश्वासन दिया.
उधर 20 मार्च को आधी रात में अगजा जलाने के बाद जमुई के सिकन्दरा थाना क्षेत्र के जखड़ा गांव में जबरन घुसकर गाली गलौज एवं आगजनी किया गया। जिस समय असमाजिक तत्तवों ने गांव में घुसकर आगजनी और गाली गलौज करना शुरू किया उस समय मुस्लिम समुदाय के लोग सो रहे थे। शोर शराबा और आगजनी की आवाज सुनकर गांव के लोग आनन फानन में उठे और अपना बचाव करने लगे।
इस मामले में  मुस्लिम बेदारी कारवां के प्रेदश अध्यक्ष सुलतान अख्तर ने जमुई के पुलिस अधीक्षक के समक्ष शिकायत दर्ज कराई है. उनका कहना है कि पुलिस प्रभावित क्षेत्र में आई लेकिन उसने उत्पातियों के खिलाफ कोई कार्वाई नहीं की.
यहां पढ़िये कि क्या शिकायत पुलिस में लिखाई गयी.

सेवा में,

श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय

जमुई, बिहार।

विषय:- असमाजिक तत्तवों द्वारा होली के अवसर पर मुस्लिम समुदाय के मोहल्ले में जबरन घुसकर गाली गलौज एवं आगजनी करने के संबंध में।
महाशय,
उर्पयुक्त विषय के संदर्भ में कहना है कि दिनांक- 20 मार्च, 2019 को रात्रि 11 बजे कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा जमुई जिला के सिकन्दरा थाना क्षेत्र के जखड़ा गांव में जबरन घुसकर गाली गलौज एवं आगजनी किया गया। जिस समय असमाजिक तत्तवों ने गांव में घुसकर आगजनी और गाली गलौज करना शुरू किया उस समय मुस्लिम समुदाय के लोग सो रहे थे। शोर शराबा और आगजनी की आवाज सुनकर गांव के लोग आनन फानन में उठे और अपना बचाव करने लगे। श्रीमान् जिस अकौना गाँव से यह असमाजिक तत्व रात में आकर हंगामा और गाली गलौज कर रहे थे उसका नेतृत्व उसी गांव अकौना के मुकेश यादव, पिता- भेटन यादव कर रहे थे। मुकेश यादव 40-50 असमाजिक तत्वों के साथ 11 बजे रात्रि में जखड़ा गांव में जाकर मुस्लिम समुदाय के लोगों को भद्दी भद्दी गालियां दीं और बिजली के खंबे में आग लगा कर उत्पात मचा भी मचाया ।
मुस्लिम समुदाय के लोगों ने खुदको खामोश रख मामले पर किसी प्रकार से रात में काबू पाया। महोदय अकौना से जखड़ा गांव की दूरी लग-भग दो किलोमिटर है। इस दो किलोमिटर की दूरी में कोई आबादी नहीं है और ना ही दूसरा कोई गांव है। फिर आखिर मुकेश यादव को इतनी दूरी तय कर मुस्लिम समुदाय की जहां आबादी है उस गांव में जाकर होली जैसे त्यौहार में आतंक मचाने का मकसद किया है? ग्रामीणों ने अगर सुझ बुझ से काम नहीं लिया होता तो बड़ी घटना घट सकती थी। मुकेश यादव जैसे संदिग्ध आतंकियों और असमाजिक तत्वों के कारण ही दंगा भड़कता है और पूरा गांव इलाका इसकी जद में आ जाता है। गरीब मजदूर इसकी जद में आकर तबाह व बर्बाद होते हैं साथ ही अमन के माहौल में जहर फैलाकर असमाजिक तत्व अपने नापाक मकसद में कामयाब भी हो जाते हैं।
महोदय हमारा संगठन आॅल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवां त्यौहार से पहले ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पुलिस महानिदेशक एवं कई जिला के जिलाधिकारी-पुलिस अधीक्षक को पत्र के माध्यम से आगाह किया था कि होली जैसे बड़े त्यौहार के मद्दे नजर पुलिस सुरक्षा को चुस्त दुरूस्त किया जाए और असमाजिक तत्वों पर कड़ी निगाह रखी जाए फिर ऐसी चूक कैसे हो गई? श्रीमान मुकेश यादव एवं उसके साथ 40-50 की संख्या में जखड़ा गांव में आतंक मचाने और आपसी भाईचारे के माहौल को खराब कर दंगा भड़काने का प्रयास करने वाले सभी असमाजिक तत्वों पर अविलंब कानूनी कार्रवाई की जाए साथ ही पूरे बिहार में होली के त्यौहार के मद्दे नजर सुरक्षा व्यवस्था को मजीद चुस्त दुरूस्त बनाए रखा जाए ताकि अमन के साथ होली के त्यौहार का समापन हो सके और अल्पसंख्यक समुदाय के अन्दर का डर एवं दशहत का माहौल खत्म हो सके।
अतः श्रीमान् से निवेदन है कि उक्त आवेदन को गंभीरता से लेते हुए उपद्रवियों पर अविलंब कार्रवाई करेंगे और आगे ऐसी घटना नहीं हो इसपर भी गंभीरता विचार करते हुए पुलिस सुरक्षा व्यवस्था को चुस्त दुरूस्त रखने की कृपा करेंगे। इसके लिए आॅल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवां आपका आभारी रहेगा।
भवदीय
मो0 सुलतान अखतर
प्रदेश अध्यक्ष
ऑल इंडिया मुस्लिम बेदारी कारवाँ,
बिहार