आजाद विचार के लिए अलग-अलग भाषाओं में बोले तेजस्वी

आजाद विचार के लिए अलग-अलग भाषाओं में बोले तेजस्वी

आजाद विचार के लिए आज पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव ने हुंकार भरी। अलग-अलग भाषाओं में कहा, आजाद विचार को कोई नहीं दबा सकता।

आज पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव आजाद विचार के पक्ष में खड़े हुए। राबड़ी देवी ने भोजपुरी में कहा- आजाद विचार के कभी भी कैद नइखे करल जा सकत। बोल कि लब आजाद बा तोहार। उन्होंने यही बात मैथिली में भी कही। वज्जिका में भी उन्होंने आवाज उठाने की अपील की।

जेलर साहब को रवीश की चिट्ठी, सोशल मीडिया पर मचाई धूम

विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने हिंदी, उर्दू, मैथिली और भोजपुरी में कहा कि विचारों की स्वतंत्रता और बोलने की आजादी को कोई कैद नहीं कर सकता।

CM नीतीश का जिला भी सुरक्षित नहीं, Double Murder से सनसनी

दरअसल पिछली रात दिल्ली से एक युवा पत्रकार मनदीप पुनिया को पुलिस उठा ले गई। आज दिल्ली में पत्रकारों ने मनदीप की रिहाई के लिए प्रदर्शन भी किया। मनदीप वही स्वतंत्र पत्रकार हैं, जिन्होंने स्थानीय के नाम पर किसानों पर हमला करनेवालों को बेनकाब किया था। आज ही चर्चित पत्रकार रवीश कुमार का एक पत्र भी वायरल हो गया। इसके बाद देशभर से आजाद आवाज के पक्ष में लोग बोलने लगे। इस बीच पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव ने भी ट्वीट करके लोगों से आजाद आवाज, आजाद विचार के पक्ष में खड़े होने की अपील की।

राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव के साथ ही अन्य राजद नेताओं ने भी आजाद विचार के पक्ष में आवाज लगाई। सांसद मनोज झा ने बांग्ला में ट्वीट करके आजाद विचार के पक्ष में आवाज दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*