बेगूसराय स्टेशन की बदहाली के खिलाफ NSUI ने खोला मोर्चा,दी अन्दोलन की धमकी

बेगूसराय स्टेशन की बदहाली के खिलाफ NSUI ने खोला मोर्चा,दी अन्दोलन की धमकी

*स्टेशन परिसर में व्याप्त कुव्यवस्था का जल्द किया जाए निपटारा- राहुल*

 शिवा नन्द गिरि, बेगूसराय से

बेगूसराय -मंगलवार को एनएसयूआई छात्र संगठन ने बेगुसराय स्टेशन की कुव्यव्स्था के खिलाफ  जिला सचिव राहुल कुमार के नेतृत्व में स्टेशन प्रबंधक का घेराव कर  मांग पत्र सौंपा।

छात्र नेता राहुल कुमार ने कहा कि दैनिक यात्रियों को वर्षों से हर रोज तमाम तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है,स्टेशन परिसर में हर रोज यात्रियों से मीडिया के द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार छिनतई और चोरी की घटनाएं सरेआम हो रही है जिस पर अंकुश लगाने की जरुरत है।  साथ ही उन्होंने कहा कि स्टेशन परिसर में सुरक्षा के दृष्टिकोण से सीसीटीवी कैमरे की सख्त आवश्यकता है जिसे जल्द लगवाया जाए। प्लेटफॉर्म पर पूर्व से बने चबूतरे के ऊपर शेड की व्यवस्था किया जाए और प्लेटफार्म संख्या दो पर कम से कम एक दर्जन शेडयुक्त चबूतरे का निर्माण करवाया जाए। प्लेटफॉर्म पर पंखे की व्यवस्था की जाए जो बिजली और जनरेटर दोनों से संचालित हो।
    जीडी कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष राजेश रंजन कुमार ने कहा कि स्टेशन परिसर में वाहन पार्किंग के दौरान जीआरपी की मिलीभगत से अवैध वसूली की जाती है जिस पर रोक लगाया जाए साथ ही उन्होंने कहा कि पार्किंग स्टैंड की स्थिति बदहाल और चिंताजनक है यात्रियों से राशि लेने के बावजूद बरसात के मौसम में घुटने भर पानी में वाहन लगाने में विवश है यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए वाहन पार्किंग का पक्की करण किया जाए ताकि परिसर भी स्वच्छ और सुंदर दिखेगा।
विवेक कुमार ने कहा कि स्टेशन परिसर में शुद्ध पेयजल हेतु प्लेटफॉर्म नंबर 1 और 2 पर कम से कम एक एक दर्जन नए पियाउ का निर्माण करवाया जाए और पूर्व से हाथी का दांत साबित हो चुके पियाऊ का मरम्मत करवाया जाए।
पवन कुमार ने कहा कि महिला यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए महिला विश्रामालय में स्तनपान कक्ष का निर्माण अति शीघ्र करवाया जाए ।नेताओं ने कहा  कि मांगों पर जल्द निदान नही हुआ  तो एनएसयूआई छात्र संगठन आंदोलन को बाध्य होगी।
मौके पर आदित्य कुमार ऋषभ कुमार चंद्रकांत पाठक प्रतीक कुमार आलोक कुमार कन्हैया कुमार राजा कुमार अभिषेक कुमार सत्यम कुमार आदि दर्जनों से अधिक कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*