बेटी को पराया धन बताने पर फंसी भाजपा, तृणमूल आक्रामक

बेटी को पराया धन बताने पर फंसी भाजपा, तृणमूल आक्रामक

तृणमूल का एक प्रमुख नारा है- बंगाल को चाहिए बंगाल की बेटी। जवाब में एक केंद्रीय मंत्री व भाजपा नेता ने मीम ट्विट किया-बेटी पराया धन होती है। मचा बवाल।

कुमार अनिल

तृणमूल कांग्रेस ने चंद दिनों पहले एक नारा लॉन्च किया-बंगाल को चाहिए बंगाल की ही बेटी। इस नारे का अबतक भाजपा काट नहीं दे सकी है। कल पहली बार इस नारे के जवाब में केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता बाबुल सुप्रियो ने एक मीम साझा किया। मीम में ऊपर ममता बनर्जी का चित्र है। लिखा है-मैं बंगाल की बेटी हूं। नीचे भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह का चित्र है और लिखा है-बेटी पराया धन होती है। इस बार विदा कर देंगे।

मन की बात पर भारी पड़ा तेजस्वी का मुद्दा

भाजपा नेता ने जैसे ही ये मीम शेयर किया, बंगाल में बवाल हो गया। सोशल मीडिया पर लोग खिंचाई करने लगे। तृणमूल कांग्रेस ही नहीं, खुद भाजपा के नेताओं ने इस ट्विट पर आपत्ति जताई। भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि ऐसा कहना महिलाओं का अपमान है। इसके बाद बाबुल सुप्रियो ने वह ट्विट डिलीट कर दिया। उन्हें सफाई देनी पड़ी कि इसे उन्होंने क्रिएट नहीं किया। न ही यह मेरा विचार है। खुद मेरी दो बेटियां हैं।

प्रशांत किशोर के दावे से बंगाल चुनाव में मची खलबली

भाजपा नेता के ट्विट वापस लेने के बाद भी सेशल मीडिया पर भाजपा की खिंचाई जारी है। सोशल मीडिया पर भाजपा को मनुवादी पार्टी करार दिया जा रहा है। सुप्रियो के इस मीम पर हिंदी में बेटी पराया धन होती है, लिखा होने पर भी सवाल उठाया जा रहा है। कई लोगों ने इसे हिंदी भाषी आबादी और मतदाताओं का अपमान बताया। द टेलिग्राफ अखबार ने तृणमूल कांग्रेस के नेता शशि पांजा का बयान प्रकाशित किया है। पांजा ने कहा कि बेटी के बारे में भाजपा का नजरिया केंद्र सरकार के बेटी बचाओ अभियान का खोखलापन उजागर कर दिया है।

इस बीच आज कोलकाता में सीपीएम की बड़ी रैली हुई। रैली में माकपा नेताओं ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों की आलोचना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*