#भारत का वीर पुत्र मोदी के जवाब में #भारत का क्रूर पुत्र मोदी

भारतकावीरपुत्रमोदी के जवाब में #भारतकाक्रूरपुत्रमोदी

आज सोशल मीडिया पर लोग आमने-सामने हैं। पीएम समर्थक # भारत का वीर पुत्र मोदी चला रहे हैं, तो दूसरी तरफ देखते-देखते शुरू हो गया #भारत का क्रूर पुत्र मोदी।

भारत का वीर पुत्र मोदी हैशटैग में शेयर की जा रही है पीएम की तस्वीर

कुमार अनिल

देश का राष्ट्रीय चैनल भले ही प्रोटोकॉल, महामारी पर विपक्ष राजनीति कर रहा है, जैसे मुद्दों पर बहस चला रहा है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय मीडिया में प्रधानमंत्री मोदी की रणनीति पर गंभीर सवाल उठाए जा रहे हैं। द टाइम में राणा अयूब का आलेख चर्चा में हैं, जिसमें उन्होंने कहा है कि अगर महामारी की कोई तस्वीर होगी, तो वह भारत के अस्पतालों की होगी।

इस बीच सोशल मीडिया पर लगातार केंद्र और राज्य सरकारों की कमजोर तैयारी पर लोग तीखी टिप्पणी कर रहे हैं। वहीं आज कई दिनों के बाद सुबह से ही प्रधानमंत्री मोदी के समर्थकों ने #भारत_का_वीर_पुत्र_मोदी ट्रेंड कराना शुरू किया। थोड़ी देर बाद जवाब में #भारत_का_क्रूर_पुत्र_मोदी चलने लगा।

जहां प्रधानमंत्री मोदी के समर्थक कह रहे हैं कि इतने बड़े देश को संभालना आसान नहीं है। पहले देश में कोरोना के टीके नहीं बनते थे, अब तेजी से बन रहे हैं। कई लोग इसे प्राकृतिक आपदा बता रहे हैं। कई लोगों ने ट्विट किया कि मोदी ने बहुत कम समय में देश में 22 एम्स बनाए हैं।

सरकार कहे, तो राजद विधायक पूरा वेतन देने को तैयार

कई लोगों ने एक पोस्टर शेयर किए हैं, जिसमें मोदी को वास्तविक वैश्विक नेता बताया गया है। प्रधानमंत्री मोदी की कई तकह की तस्वीरें साझा की जा रही हैं, जिसमें वे मजबूत कदमों से चलते दिख रहे हैं।

उधर, सोशल मीडिया पर #भारत_का_क्रूर_पुत्र_मोदी भी ट्रेंड कर रहा है। मूल निवासी तरुण ने एक पोस्टर शेयर किया है। लिखा है- वे पांच कारण जिससे देश तबाह हुआ। मोदी की रात आठ बजे की घोषणाएं, अमित शाह की चाणक्य नीति, निर्मला सीतारमण का अर्थशास्त्र, आरएसएस का झूठा राष्ट्रवाद और गोदी मीडिया का प्राइम टाइम।

बताओ, कौन रोक रहा आक्सीजन, फांसी पर लटका देंगे : हाईकोर्ट

विजय प्रकाश ने ब्रिटिश न्यूज चैनल स्काई न्यूज का एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें विदेशी पत्रकार दिल्ली के अस्पतालों के बाहर फर्श पर बेसुध पड़े मरीज के बारे में बता रही है। इसी बीच स्ट्रेचर पर कई शव एक-के-बाद एक ले जाए जाते दिख रहे हैं। कई लोगों ने इस पर जोर दिया है कि लोगों की मौत कोरोना के कारण नहीं हो रही, बल्कि ऑक्सीजन की कमी से हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*