बिहार के नालंदा स्थित VIMS मेडिकल कॉलेज के 40 छात्र कोरोना संक्रमित

बिहार के नालंदा स्थित VIMS मेडिकल कॉलेज के 40 छात्र कोरोना संक्रमित

बिहार के नालंदा जिले में पावापुरी स्थित ‌र्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान (VIMS). इमेज क्रेडिट – पावापुरी न्यूज़

रिपोर्ट – महमूद आलम

बिहार के नालंदा स्थित व‌र्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान (Vardhman Institute of Medical Sciences, VIMS) के 40 छात्र कोरोना संक्रमित मिले हैं।

बिहार के नालंदा जिले के पावापुरी स्थित व‌र्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान (VIMS) में कोरोना संक्रमण कि खबर से छात्रों में हड़कंप मच गया है . अभी तक 80 छात्र-छात्राओं के सैम्पल की जांच की गई है, जिनमें 40 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस बात की पुष्टि VIMS के माइक्रोबायोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ अरविद कुमार ने की है।

VIMS मेडिकल कॉलेज द्वारा लॉकडाउन समाप्ति के बाद MBBS सेकंड ईयर परीक्षा की घोषणा कर दी गयी थी. बताया जा रहा है कि छात्रों का परीक्षा पूर्व कोरोना टेस्ट न कराने के कारण छात्र-छात्राओं में कोरोना संक्रमण फैला है.

RJD का घोषणा-पत्र: बिहारियों को 85% आरक्षण, किसानों का क़र्ज़ माफ़

छात्रों की और से गोपनीयता की शर्त पर बताया कि VIMS मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने आनन फानन में MBBS द्वितीय वर्ष की परीक्षाओं की घोषणा तो कर दी लेकिन सभी छात्रों का परीक्षा के पूर्व कोरोना टेस्ट नहीं करवाया जिससे संक्रमण फैला है. पिछले दिनों हरियाणा से आई एक छात्रा के पिता की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हुई थी. मुमकिन है कि देश के अन्य राज्यों से इस तरह के कुछ और छात्र कॉलेज में आये होंगे।

सभी संक्रमित छात्र-छात्राएं 2017 बैच के हैं और एमबीबीएस कोर्स के दूसरे वर्ष की पढाई कर रहे हैं . लॉकडाउन हटने के बाद कॉलेज प्रबंधन ने आनन फानन में दुसरे वर्ष के छात्रों की परीक्षा की घोषणा कर दी थी. छात्र परीक्षा दे ही रहे थे कि कुछ छात्रों को कोरोना का शक हुआ और उनकी शिकायत पर कोरोना टेस्ट कराया गया जिसमें 40 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए.

कोरोना महामारी के दौरान लॉक डाउन अवधि में मेडिकल कॉलेज की क्लास सस्पेंड थीं और सभी विद्यार्थी अपने घर लौट गए थे। लेकिन अक्टूबर में MBBS के दुसरे वर्ष के छात्रों की परीक्षा की घोषणा कर दी गई। तब आनन-फानन में दिल्ली, हरियाणा समेत देश के विभिन्न हिस्सों से विद्यार्थी नालंदा के पावापुरी स्थित मेडिकल कॉलेज पहुंचे थे.

बिहार चुनाव: कोरोना वैक्सीन के राजनीतिकरण पर विपक्ष ने उठाये सवाल

सूत्रों कि और से जानकारी दी गयी कि कॉलेज के दुसरे वर्ष के छात्र नालंदा के चंडी स्थित नालंदा इंजीनियरिंग कॉलेज में परीक्षा देने के लिए रोजाना जाते थे. अब आशंका जताई जा रही है कि कॉलेज खुलने के बाद विभिन्न क्षेत्रों के छात्रों के एक दुसरे से संपर्क में आने के बाद संक्रमण फैला है.

जिन 40 छात्रों को कोरोना संक्रमित पाया गया है इनमें से पांच छात्रों की हालत गंभीर बताई जा रही है और इन्हें विम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। अभी भी जितने छात्रों की कोरोना जांच की गयी है उनमें से 20 छात्र-छात्राओं की जांच रिपोर्ट आनी शेष है। जिन संक्रमित छात्रों की स्थिति गंभीर नहीं है उन्हें VIMS मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल के जनरल वार्ड व हॉस्टल में ही अलग-थलग रहने की हिदायत दी गयी है.

बिहार के नालंदा स्थित VIMS के छात्रों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद छात्र चिंतित हैं. VIMS प्रबंधन ने फिलहाल 22 अक्टूबर से होने वाले वाइवा टेस्ट को फिलहाल टाल दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*