Hindustani Awam Morcha का बदलेगा चुनाव चिन्ह

Hindustani Awam Morcha (HAM) को अब नया चुनाव चिन्ह मिलेगा। पुराना चुनाव चिन्ह टेलीफोन अब बदल दिया जाएगा। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष Jitan Ram Manjhi ने मंगलवार को कार्यकर्ताओं की वर्चुअल बैठक में यह जानकारी दी। 

उन्होंने कहा कि नियमानुसार दो चुनावों में 4% वोट नहीं मिलने और कम से कम 2 उम्मीदवार नहीं जीतने के कारण यह चुनाव चिन्ह बदला जा रहा है। चुनाव आयोग के नियमों के अनुसार ही यह बदलाव होगा। उन्होंने कहा कि दलितों के आरक्षण, प्रोन्नति में आरक्षण ,समान शिक्षा, दलित उत्पीड़न एक्ट को संविधान की नौवीं सूची अनुसूची में लाने के उनके संघर्ष में जो पार्टी साथ देगी, वे उसी के साथ रहेंगे।

महागठबंधन में उनके दल की उपेक्षा, 20 अंतिम निर्णय लेंगे।मांझी ने आरोप लगाया कि महागठबंधन में उनकी मांग व उनके दल की उपेक्षा हो रही है। समन्वय समिति की मांग पर राजद कोई ध्यान नहीं दे रहा है, जबकि कांग्रेस, रालोसपा, वीआईपी सभी दल इसका गठन चाहते हैं। राजद को कई बार समय दिया गया लेकिन राजद ने उनकी बात नहीं मानी है। अब 20 अगस्त को वे अपना अंतिम निर्णय लेंगे। 

मांझी ने कहा कि निजी क्षेत्र न्यायपालिका में भी आरक्षण मिलना चाहिए। श्याम रजक को आरक्षण बचाओ संघर्ष मोर्चा का अध्यक्ष बनाया गया था, लेकिन उन्होंने संघर्ष में साथ नहीं दिया, बल्कि राजद में चले गए। राजद ने उस समय भी इस मोर्चा को साथ नहीं दिया था। आरोप लगाया कि श्याम रजक उन लोगों की गोद में जाकर बैठ गए हैं जो दलित आरक्षण और दलित आंदोलन को खत्म करना चाहते हैं तथा जिनको दलितों से ज्यादा अपनी खुशी की परवाह है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*