नीतीश कैबिनेट का फैसला, इंजीनियरिंग छात्रों को भी मिलेगा स्टाइपेंड

नीतीश कैबिनेट का फैसला, इंजीनियरिंग छात्रों को भी मिलेगा स्टाइपेंड

नीतीश कैबिनेट का फैसला, इंजीनियरिंग छात्रों को भी मिलेगा स्टाइपेंड। 10 हजार रुपए महीना मिलेगा। कैबिनेट में 14 एजेंडे पर मुहर। 2165 नए पंचायत भवन बनेंगे।

मंत्रिमंडल विस्तार के बाद नीतीश कैबिनेट की पहली बैठक मंगलवार को हुई। हैठक में 14 प्रस्तावों को स्वीकृति दी गई। अब राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज से पढ़ाई करने वाले छात्रों को इंटर्नशिप के दौरान 10 हजार रुपए स्टाइपेंड मिलेगा। ये स्टाइपेंड सिर्फ उन्ही छात्र-छात्रओं को मिलेगा, जो विज्ञान प्रावैधिकी एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के अधीन संचालित राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालयों में पढ़ाई कर रहे हैं।  कैबिनट मीटिंग में छह हजार दस करोड़ की लागत से 2165 नए पंचायत भवन बनाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई।

जिन अन्य प्रस्तावों को स्वीकृति दी गई उनमें विज्ञान प्रावैधिकी एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी की बहाली में राहत देते हुए आवेदन करने वाले आवेदकों का परीक्षा शुल्क माफ कर दिया गया है। मालूम हो कि बिहार कर्मचारी चयन आयोग पटना लिखित परीक्षा ले रहा है, जिसके तहत 346777 आवेदकों ने आवेदन दिया है।

एक अन्य फैसले में नए पदों की स्वीकृति दी गई है। मौसम सेवा केंद्र के लिए 43 तकनीकी पद सृजित करने को स्वीकृति दी गई है। इन पदों में संयुक्त निदेशक, सीनियर वैज्ञानिक अधिकारी के दो पद, वैज्ञानिक अधिकारी के छह पद, जूनियर वैज्ञानिक अधिकारी के 10 पद, तकनीकी सहायक के आठ पद और क्षेत्रीय तकनीकी वैज्ञानिक सहायक के 16 पद शामिल हैं। एक अन्य फैसले में पशुपालकों के द्वार पर पशु चिकित्सा सुविधा देने का निर्णय लिया गया है। यह केंद्र सरकार के सहयोग से बनाई गई योजना है। इसे सात निश्चय कार्यक्रम के तहत स्वीकृति दी गई है। ध्यान रहे 12 फरवरी से विधानसभा का बजट सत्र शुरू हो रहा है, जिसमें नई सरकार को विश्वास का मत हासिल करना है।

बिहार NDA में घमासान, कुशवाहा ने जदयू की सीट पर ठोका दावा