कांग्रेस विधायक भी कूदे जल-प्रकोप में फंसे लोगो को बचाने के लिए

कांग्रेस विधायक भी कूदे जल-प्रकोप में फंसे लोगो को बचाने के लिए

 

बिहार में पिछले 5 दिनों से हुई लगातार बारिश से पुरे प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है तथा बाढ़ जैसी भयंकर स्थिति उत्पन्न हो गई है.

वही बात करें राजधानी पटना कि तो शहर का लगभग 80 प्रतिशत इलाका जल-प्रलय के कारण डूबा हुआ है, जिसके कारण लगभग 5 से 7 लाख लोग बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं और लगभग 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है .

पटना के कई निचले इलाकों में पानी इतना ज्यादा जमा हो गया कि बहुत से लोग घरों में ही फंसे हुए है, जिनके पास न खाने के लिए कुछ है और न ही पिने के लिए. बिजली आपूर्ति भी पूरी तरह ठप है. लोग डर के साये में जी रहे हैं कि पता नहीं कब क्या हो जाए.

ऐसे विपदा की घडी में सरकार के साथ-साथ स्थानीय लोग तथा कई सामाजिक संस्था भी लोगों को राहत सामग्री बांटने का कार्य कर रही है. सरकार द्वारा घरों में फंसे  हुए लोगो को बहार निकलने का काम जोरों पर है. वहीँ कई सामाजिक संस्था भी जल-प्रलय में फसे लोगों को बचाने तथा उनके लिए हर जरुरत की चीजों कों उनतक पहुँचाने का कार्य कर रही है.

बाढ़ से बेहाल हुआ बिहार: फोन पर सुनाई पीड़ितों ने अपनी दर्दनाक कहानी

ऐसी ही एक समाजिक संस्था समनपुरा नौजवान कमिटी है जो इस दयनीय स्थिति में लोगों तक राहत सामाग्री पहुँचाने का कार्य कर रही है. लोगों तक राहत पहुँचाने के लिए समनपुरा नौजवान कमिटी ने  एम.एल.ए  डॉ. शकील अहमद खान और कैसर अली खान के नेतृत्व में नौजवानों ने कोशिश संस्था के सहयोग से विगत तिन दिनों से जल-प्रलय से प्रभावित क्षेत्रों में लोगों के बीच  फ़ूड पैकेट और पानी का वितरण कर रही है.

 यह क्षेत्र निम्नलिखित है…                                                           

 

1.कमला नेहरू स्लम, अदालतगंज

  1. कुर्जी, मूसहरी
  2. पहाड़पुर,  अनीसाबाद
  3. कुर्जी, देवी स्थान
  4. सदाकत आश्रम के आसपास का एरिया शामिल है.

कांग्रेस के एकलौते सांसद जावेद के सम्मान समारोह में शामिल हुए निलंबित नेता डॉ. शकील व भावना झा

कांग्रेस विधायकों ने लोगों से अपील की है कि इस दुःख भरे संकट की स्थिति में लोग सामने आए और जरुरतमंदो की मदद करें. बिहार सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि पानी की निकासी के लिए जल्द से जल्द कोई व्यवस्था की जाए तथा इस जल-प्रलय से होने वाली बिमारियों से बचाने का उपाय निकाला जाए.

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*