बिहार का नया रोजगार, देखिए कैसे बच्चे-अधेड़ बन रहे शराब तस्कर

बिहार का नया रोजगार, देखिए कैसे बच्चे-अधेड़ बन रहे शराब तस्कर

सरकार ने 19 लाख रोजगार नहीं दिए, तो लोग बैठे नहीं रह सकते। राजद ने एक वीडियो शेयर किया, जिसमें बच्चे, जवान, अधेड़ शराब ढो रहे हैं। लाइन टूटती ही नहीं।

इसमें कोई शक नहीं कि शराबबंदी के फायदे हैं, पर यह वीडियो चिंतित करनेवाला है। यह बताता है कि रोजगार के अभाव में बच्चे, जवान और अधेड़ हर उम्र के लोग नेपाल से शराब तस्करी में लगे हैं। लोग पैदल बैग में शरीब की बोतलें भर कर कंधे पर लिये लगातार चले आ रहे हैं। उनकी लाइन कभी खत्म ही नहीं होती। यह शराब तस्करी दिन के उजाले में हो रही है।

शराब तस्करी में छोटे बच्चे भी शामिल हैं। यह सबसे ज्यादा चिंता वाली बात है। आखिर हम नई पीढ़ी को कहां धकेल रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहते हैं कि जो शराब पिएगा, वह मरेगा। लेकिन वे इस वीडियो को देखें और बताएं कि क्या धूप में ये बच्चे शौक और मजे के लिए शराब कंधे पर ढो रहे हैं। अधेड़ उम्र के लोग क्यों शराब ढो रहे हैं। जाहिर है, उनके पास रोजगार का कोई साधन नहीं है। घर का खर्च कैसे चलेगा।

एनडीए ने 2020 विधानसभा चुनाव में 19 लाख रोजगार देने का वादा किया था। जनता को रोजगार नहीं मिला, तो लोग भूखे मरने से अच्छा तस्करी में उतर रहे हैं। यह बिहार के लिए शर्मनाक स्थित है। बेरोजगारी का परिणाम कितना घातक हो सकता है, यह वीडियो दिका रहा है।

अभी हाल में बिहार में बिहार दिवस मनाया गया। सरकार ने अखबारों-टीवी और सोशल मीडिया में करोड़ों के विज्ञापन दिए। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि हम नीतीश कुमार के नेतृत्व में स्वर्णिम भविष्य की ओर बढ़ रहे हैं। इस वीडियो को देख कर बताइए कि हम स्वर्णिम भविष्य की ओर बढ़ रहे हैं या किसी गहरी खाई में जा रहे हैं।

SaatRang : ओडिशा में पहली बार मुस्लिम महिला संभालेंगी शहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*