बिहारियों को नहीं मिली राहत, लाक डाउन 30जून तक बढा

लाक डाउन पर केंद्र द्वारा ढील के बाव्जोद्द बिहार सर्कार ने बड़ा फैसला लेते हुए नागरिकों के लिए आसानी देने के बजाये लाक डाउन को एक महीने के लिए और बढ़ाने के फरमान जारी कर दिया है.

बिहार सरकार ने रविवार को ऐलान किया कि राज्य में एक महीने के लिए कोरोना लॉकडाउन को बढ़ाया जा रहा है। इस संबंध में गृह विभाग के अपर मुख्या सचिव आमिर सुभानी ने आदेश जारी कर दिया है।

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने अपने आदेश में कहा है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 30 मई 2020 को एक दिशानिर्देश जारी किया है। बिहार सरकार ने विचार विमर्श के बाद यह निर्णय लिया है कि गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों को राज्य में यथावत लागू एवं अनुपालन किया जाएगा।

अपर मुख्य सचिव गृह ने अपने आदेश में कहा है कि राज्य सरकार के सभी विभागों एवं क्षेत्रीय प्रशासन के सभी अधिकारियों को निर्देश दिया जाता है कि गृह मंत्रालय के उपयुक्त आदेश एवं दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करें।

केंद्र सरकार के दिशा निर्देश में 8 जून से लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खोलने की बात भी कही गई है। हालांकि बिहार सरकार के आदेश में ऐसी कोई बात नहीं है।

केंद्र के नए दिशानिर्देश के मुताबिक, आठ जून से धार्मिक स्थल, रेस्टोरेंट, मॉल्स और होटल भी खोलने की अनुमति दी गई है। शनिवार को जारी केंद्र सरकार गाइडलाइंस में कहा गया है कि जो भी गतिविधियां अब तक प्रतिबंधित थीं, उन्हें चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा।

हालांकि बिहार सरकार ने चरणबद्ध तरीके से ढील दें पर कोई निर्देश नहीं दिया है.

राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पिच्च्ले दो हफ्ते दोगुनी से भी अधिक हो गई है। मई महीने में प्रवासी श्रमिकों के भिअर आने के बाद से संक्रमण की गति काफी बढ़ है. इस महीन अब तक १७ लाख से ज्यादा श्रमिक बिहार आ चुके हैं.

अबतक इस दौरान संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3509 हो चुकी है। इस प्रकार 03 मई से 17 मई के बीच 804 मरीज की पहचान की गई। जबकि 18 मई से 30 मई के बीच 2189 संक्रमितों की पहचान की गई। और अब तक 20 लोगों की मौत भी हो चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*