बिहार में आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर संविधान बचाओ मार्च

बिहार में आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर संविधान बचाओ मार्च

बिहार में आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर संविधान बचाओ मार्च। राजद का डॉ. आंबेडकर की पुण्यतिथि और बाबरी मस्जिद की शहादत पर कार्यक्रम। जदयू का मार्च।

बिहार में 6 दिसबंर को महागठबंधन में शामिल सभी दलों राजद, जदयू तथा वाम दलों ने संविधान निर्माता डॉ. आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस को संविधान बचाओ दिवस के रूप में मनाया। जदयू ने संविधान बचाओ मार्च निकाला, जबकि राजद ने डॉ. आंबेडकर की पुण्य तिथि तथा बाबरी मस्जिद शहादत दिवस पर पार्टी कार्यालय में कार्यक्रम किया।

जदयू से मिली जानकारी के अनुसार भारत रत्न डाॅ. भीमराव आंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर बुधवार को पार्टी मुख्यालय के कर्पूरी सभागार में बाबा साहेब के तैल्यचित्र पर माल्यापर्ण कर उन्हे भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इसके बाद जनता दल (यू) अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ की ओर से मोदी सरकार की असंवैधानिक कृत्यों के खिलाफ ‘‘संविधान बचाओ मार्च’’ निकाला गया। यह मार्च पटना के वीरचंद पटेल मार्ग स्थित पार्टी मुख्यालय से निकलकर आयकर गोलंबर होते हुए पटना हाईकोर्ट तक गया एवं हाईकोर्ट के समीप अवस्थित डाॅ. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा पर पार्टी नेताओं ने पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया। इस दौरान जदयू के तमाम कार्यकर्ताओं ने बाबू जगजीवन राम छात्रावास बंद क्यों? देश में 10 वर्षीय जनगणना अब तक क्यों नहीं? नये संसद भवन में सावरकर का सम्मान और आंबेडकर का अपमान क्यों? के नारों के साथ मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मार्च का नेेतृत्व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने किया।

मार्च में अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष राजेश त्यागी, पूर्व मंत्री भगवान सिंह कुशवाहा, अरूण कुमार, विद्यानंद विकल, पूर्व विधायक अरुण मांझी, पूर्व विधायक अजय पासवान, हेमराज राम, भारती मेहता, अशरफ हुसैन, धर्मेंद्र चद्रवंशी, अभिषेक झा, शत्रुध्न पासवान, रुबेल रविदास, डाॅ. हुलेश मांझी सहित कई नेता शामिल थे।

उधर राजद ने राज्य कार्यालय में बाबा साहेब डाॅ. भीमराव अंबेदकर की पुण्यतिथि तथा बाबरी मस्जिद शहादत दिवस प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह की अध्यक्षता में मनाया। इसमें पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेता शामिल थे।

बिहार में 26 IAS अधिकारियों को मिली प्रोन्नति, अपर सचिव बने