नीतीश द्वारा सन्यास की घोषणा: विरोधियों ने उड़ाई खिल्ली

नीतीश द्वारा सन्यास की घोषणा: विरोधियों ने उड़ाई खिल्ली

इमेज क्रेडिट – आउटलुक हिंदी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ‘अंतिम चुनाव’ वाले बयान से बिहार के सियासी गलियारों में हलचल है. विरोधी दलों के नेता इसको लेकर जदयू एवं नीतीश कुमार की खिल्ली उड़ा रहे हैं.

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने जहाँ इसे ‘हार मान लेना’ बताया वहीँ पप्पू यादव ने नीतीश पर ‘इमोशनल ब्लैकमेल’ करने का आरोप लगा दिया. वही कांग्रेस ने ‘जदयू-बीजेपी का टायर्ड एवं रिटायर्ड’ नेतृत्व करार दिया है.

बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री एवं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने चुनाव प्रचार के आखिरी दिन गुरुवार को पूर्णिया के धमदाहा में जनसभा में कहा था कि “परसों चुनाव होने वाला है. यह मेरा अंतिम चुनाव है. अंत भला तो सब भला”. नीतीश के इस बयान से बिहार के सियासी हलकों में कई तरह की चर्चाएं होने लगी थी. वहीँ विपक्षी पार्टियों के कई नेताओं ने इसपर प्रतिक्रिया दी है.

नौकरशाही डॉट कॉम की खबर पर मुहर: नीतीश ने बोला यह मेरा अंतिम चुनाव

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने अपने ट्वीट में कहा की नीतीश कुमार ने हार मान ली है. “आदरणीय नीतीश जी बिहारवासियों की आकांक्षाओं, अपेक्षाओं के साथ-साथ ज़मीनी हकीकत भी स्वीकार करने को तैयार नहीं थे। हम शुरू से कहते आ रहे है कि वो पूर्णत: थक चुके है और आज आखिरकार उन्होंने अंतिम चरण से पहले हार मानकर राजनीति से संन्यास लेने की घोषणा कर हमारी बात पर मुहर लगा दी”.

जबकि जाप (जन अधिकार पार्टी) अध्यक्ष पप्पू यादव ने समाचार एजेंसी ANI को दिए इंटरव्यू में नीतीश कुमार के “अंतिम चुनाव’ वाले बयान को इमोशनल ब्लैकमेल बताया है. उन्होंने कहा “यह सिर्फ भावनात्मक ब्लैकमेल है। ऐसा कायर, कमजोर और असहाय व्यक्ति फिर से सीएम क्यों बनना चाहता है? उन्हें बिहार की राजनीति से संन्यास लेना चाहिए और केंद्र की राजनीति में शामिल होना चाहिए। बीजेपी ने पटकथा लिख रखी है”.

तीसरे चरण के मतदान से पहले नीतीश ने चले कौन से तीन दांव ?

वहीँ लोजपा (लोक जनशक्ति पार्टी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी नीतीश कीअंतिम चुनाव की घोषणा पर जवाबी पलटवार कर दिया है. चिराग ने अपने ट्वीट में कहा कि नीतीश द्वारा यह बताने पर कि यह उनका आखिरी चुनाव है, इससे जदयू के नेताओं में हडकंप है और उनकी पार्टी के कई नेता अब बेरोजगार हो गए हैं.

चिराग ने ट्वीट में कहा “@NitishKumar जी के सन्यास लेने के बयान के बाद @Jduonline के नेताओ में हड़कम्प है। जे॰डी॰यू॰ के कई नेता अब बेरोज़गार हो गए हैं।इन बेरोज़गारों को #बिहार1stबिहारी1st में कोई जगह नहीं दी जाएगी।वह हमेशा बेरोज़गार ही रहेंगे।बिहार को अब और बर्बाद नहीं होने देना है। #जेडीयूमुक्तबिहार“.

कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि नीतीश कुमार ने अपनी हार स्वीकार कर ली है. सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में कहा “नीतीश बाबू ने तो तीसरे चरण के चुनाव से पहले ही इस चुनाव को अपना ‘आखिरी चुनाव’ बता JDU-BJP की हार स्वीकार कर ली। पर जान लें कि JDU-BJP का ‘टायर्ड व रिटायर्ड नेतृत्व’, जिन्होंने अब रिटायरमेंट की घोषणा भी कर दी है, वो बिहार को हरा नहीं पाएंगे!”.

नीतीश कुमार के अंतिम चुनाव वाले बयान पर चर्चाएं जोर पकड़ते ही जदयू को सफाई देनी पड़ी. पार्टी के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि “उन्होंने (नीतीश कुमार ने) यह कहा था कि यह बिहार चुनाव का आखिरी चरण है. बिहार में एनडीए को बहुमत मिले और अच्छी सरकार बने यह उनके कहने का आशय था”. उन्होंने यह भी कहा कि अब अगर विपक्ष इसपर अफवाह उड़ाने कि कोशिश करता है तो उनकी हताशा को समझा जा सकता है .

बिहार चुनाव के तीसरे और अंतिम चरण में शनिवार को 16 जिलों के 78 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा. निर्वाचन आयोग द्वारा नतीजों का ऐलान 10 नवम्बर को किया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*