घुसपैठ के बाद PM CARES में चीन के डोनेशन पर घिरी BJP

अभी पीएम मोदी द्वारा चीन के भारत में घुसपैठ से इनकार करने से मचे बवाल के बाद अब PM CARES फंड पर चीनी कम्पनियों के डोनेशन पर हंगामा मच गया है.

सीमा पर घुसपैठ नकारने के बाद अब चीन के डोनेशन पर घिरी BJP

दर असल इस विवाद की शुरुआत तब हुई जाब भाजपा ने आरोप लगाया कि चीन ने राजीव गांधी फाउंडेशन ( Rajeev Gandhi Foundation) को मोटी रकम डोनेट की. इसके जवाब में कांग्रेस ने भाजपा को यह कह कर बेपर्दा कर दिया कि प्रधान मंत्री नरेद्र मोदी द्वारा बनाये गये PM-CARES फंड में चीन की अनेक कम्पनियों ने डोनेट किया है.

दर असोल कोरना संकट से निपटने के लिए प्रधान मंत्री मोदी ने PM-CARE फंड की शुरुआत की. उन्होंने लोगों से अपील की कि वे इसमें डोनेट करें. इसके बाद रिलायंस जियो, एयरटेल सरीखे अनेक कम्पनियों ने डोनेट किया. जनसत्ता ऑनलाइन ने लिखा है कि इस फंड में चीन की अनेक कम्पनियों ने डोनेट किया.

अखिलेश का भाजपा सरकार पर हमला- बेबस मजदूरों से ट्रेन में पैसे वसूलना शर्मानक

इन कम्पनियों में नकर्ताओं में कई चीनी कंपनी भी आगे रहीं। चीन की टेलिकॉम और मोबाइल कंपनी श्याओमी, हुआवे, वनप्लस और ओप्पो इसमें सबसे आगे रहीं। पीएम केयर्स फंड में सबसे ज्यादा दान देने वाली चीनी कंपनी रही शॉर्ट वीडियो नेटवर्किंग ऐप टिकटॉक, जिसने ऐप पर ही एक क्विज गेम- ‘खेलोगे आप, जीतेगा इंडिया’ शुरू कर के पीएम केयर्स फंड के लिए जनसत्ता के अनुसार 30 करोड़ रुपए दान करने की बात कह चुकी है। गौरतलब है कि टिकटॉक फरवरी से लगातार ऐप के जरिए कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में जागरुकता फैलाने के बारे में बयान जारी करती रही है।

चीन की सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी श्याओमी ने पीएम केयर्स फंड के ऐलान के 3 दिन के अंदर ही कुल 15 करोड़ रुपए की राशि कोरोना से लड़ाई में देने का ऐलान कर दिया। इनमें 10 करोड़ रुपए पीएम केयर्स फंड के लिए,

इन मुद्दों पर भाजपा बुरी तरह घिर गयी है. क्योंकि उसने पहले यह आरोप लगाया था कि राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से डोनेशन मिला है. इसके बाद भाजपा यह भूल गयी कि चीन की विभिन्न कम्पनियों ने खुद पीएम केयर्स में डोनेट किया. कांग्रेस के पी चिदम्बरम और अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को इस संबंध में जवाब देना चाहिए. उन्होंने चीन की उन कम्पनियों से डोनेशन लिया है जो चीन की सेना पीएल एक को सपोर्ट करती हैं.

इससे पहले प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने यह कह कर भी भारी आलोचना मोल ले ली थी कि चीन के सैनिक हमारी सीमा में नहीं घुसे थे. जबकि विदेश मंत्रालय ने माना था कि चीन के सैनिकों ने हमारे पोस्ट पर कब्जा तक किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*