भाजपा-जदयू की यात्राओं का जवाब देगा राजद, ये है रणनीति

भाजपा-जदयू की यात्राओं का जवाब देगा राजद, ये है रणनीति

भाजपा की आशीर्वाद यात्रा व जदयू के कई नेताओं की हो रही यात्राओं का जवाब देगा राजद। पार्टी नेता बूथ स्तर तक जाकर लालू प्रसाद के संदेश बताएंगे। क्या है संदेश?

भाजपा ने देशभर में जन आशीर्वाद यात्रा की। बिहार में भी भाजपा के कई केंद्रीय मंत्री जिलों में गए। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा बिहार में यात्राएं कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह भी कई जिलों में गए। अब राजद ने अपने ढंग से इन यात्राओं का जवाब देने की रणनीति बना ली है।

राजद के कार्यकर्ता हर बूथ तक जाएंगे और लालू प्रसाद के संदेश को जनता के बीच ले जाएंगे। लालू प्रसाद का संदेश क्या है? लालू प्रसाद चाहते हैं कि देश में जातीय जनगणना हो। इसके लिए केंद्र पर दबाव बनाया जाए। वे मोदी सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए सभी भाजपा विरोधी दलों की एकता चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने देश के कई बड़े नेताओं से संपर्क भी किया है। महंगाई, बेरोजगारी, देश की संपत्ति बेचने, लोगों में धर्म के नाम पर नफरत फैलाने जैसी राजनीति के खिलाफ लालू प्रसाद चाहते हैं कि सारा विपक्ष एक हो। जनता को संगठित किया जाए। इस दिशा में तेजस्वी यादव और राजद लगातार सक्रिय भी हैं।

आज राजद के जिलाध्यक्षों और नेताओं की बैठक में तेजस्वी यादव ने कहा कि बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं को सक्रिय किया जाएगा। लालू जी के संदेश को पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं को पार्टी की रीढ़ बताया और कहा कि कोई भी नेता को कहीं कोई शंका हो, तो वे खुल कर उनसे बात करें।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने बताया कि आज जिला अध्यक्ष, जिला प्रधान महासचिव, महानगर अध्यक्षों की बैठक 10 सर्कुलर रोड स्थित पूर्व मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर हुई। बैठक की अध्यक्षता नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने की। उन्होंने कहा कि कोई बात समझ में नहीं आये, उसे बार-बार पूछें। पार्टी एक व्यक्ति से नहीं, सबके प्रयास से चलती है।राजद कार्यकर्ता अपना सम्पर्क बढ़ाएं। बूथ स्तर तक पार्टी को मज़बूत करें।

करनाल में भी गूंजा अल्लाह हू अकबर, हर हर महादेव

तेजस्वी ने कहा कि लालू जी देश के ऐसे नेता हैं जिनको सबसे अधिक जनता का प्यार और विश्वास मिला है। हर किसी की इच्छा है कि कोई लालू जी का संदेश ले कर आये। संगठन में बड़ी ज़िमेदारी जिला अध्यक्ष की होती है। वे पद की गरिमा को समझ कर कार्य करें। कल उनका ही होगा।पिछले चुनाव मे राजद गठबंधन को एनडीए से मात्र 12 हज़ार वोट कम मिले। तारापुर एवं कुशेश्वरस्थान में उपचुनाव है। अभी से प्रचार में जुट जाना है। सप्ताह में एक दिन प्रत्येक चुनाव क्षेत्र में दो पत्रकार सम्मलेन करें। पार्टी के वरिष्ठ नेता क्षेत्र का दौरा करें।

दंगा की साजिश नाकाम, मंदिर में मांस फेकने वाले निकले हिंदू

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि वे सभी कार्यकर्ताओं को सम्मान देना चाहते हैं।लेकिन उन्हें समर्पित भाव से पार्टी के कार्यक्रम में लगना होगा। पद के अनुरूप कार्य करें। मेरी नज़र सभी पर है। वक्त आने पर उन्हें पद और सम्मान भी दूंगा।परफॉर्मेंस पर पदाधिकारी धयान दें।

प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि प्रशिक्षण शिविर उत्तर बिहार और दक्षिण बिहार के लिए अलग-अलग होगा। 21-22 सितंबर को दक्षिण बिहार के जिलों का प्रशिक्षण 1 पोलो रोड (नेता प्रतिपक्ष आवास) में होगा। उत्तर बिहार के जिलों के लिए तिथि की घोषणा बाद में होगी। इस शिविर में राजद के जिला अध्यक्ष, प्रखंड अध्यक्ष, ज़िला प्रधान महासचिव, महानगर अध्यक्ष भाग लेंगे।

बैठक का संचालन प्रधान महासचिव आलोक मेहता ने किया। बैठक को राज्यसभा सांसद मनोज झा, पूर्व विधानपार्षद तनवीर हसन, पूर्व विधायक भोला यादव, पूर्व सांसद बोलू मंडल ने संबोधित किया। पूर्व विधायक शक्ति यादव, चितरंजन गगन, सारिका पासवान, एजाज अहमद सहित कई अन्य वरीय नेता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*