भाजपा के सामने न झुकने की लालू को मिली सजा : प्रियंका

भाजपा के सामने न झुकने की लालू को मिली सजा : प्रियंका

तीन दिन पहले राजद प्रमुख लालू प्रसाद को चारा घोटाला मामले में दोषी करार दिया गया। राजद को इस मुश्किल समय में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का मिला साथ।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद एक बार फिर से जेल में हैं। तीन दिन पहले रांची की एक अदालत ने चारा घोटाले से जुड़े 139 करोड़ रुपए के निकासी मामले में उन्हें दोषी करार दिया। अब तक किसी राष्ट्रीय नेता का लालू प्रसाद को समर्थन नहीं मिला था। इब पहली बार कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी खुवकर लालू प्रसाद के बचाव में आईं। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद को भाजपा के सामने न झुकने की सजा मिली है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने खुद ट्वीट करके लालू प्रसाद के संघर्ष का समर्थन किया और उन्हें जेल भेजने पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा-भाजपा की राजनीति का ये अहम पहलू है कि जो भी उनके सामने झुकता नहीं है, उसको हर तरह से प्रताड़ित किया जाता है। लालू प्रसाद यादव जी पर इसी राजनीति के चलते हमला किया जा रहा है। मुझे आशा है कि उन्हें न्याय जरूर मिलेगा।

प्रियंका गांधी के लालू प्रसाद के पक्ष में खुल कर बोलने के कारण भाजपा समर्थक उन्हें ट्रोल कर रहे हैं, लेकिन इसकी उन्हें परवाह नहीं। यह किसी से छिपा नहीं है कि बंगाल, यूपी सहित कई प्रदेशों के बड़े नेता जैसे ही भाजपा में जा मिले, उनके मामलों को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। कहा भी जाता है कि भाजपा के पास वाशिंग मशीन है।

प्रियंका गांधी के बयान पर ऑफिस ऑफ तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया- शुक्रिया प्रियंका जी, सत्ता तेरा जुल्म बहुत तो हमारी भी तैयारी है लालू जी के साथ खड़ा एक-एक बिहारी है। आदरणीय लालू जी सदा उनसे लड़े है जो लोगों को दबाते है,सताते है और आपस में लड़ाते है। निसंदेह, देर-सवेर जीत न्याय की ही होगी। हम सब संघियों से डरने वाले नहीं है।

यह किसी से छिपा नहीं है कि बिहार में राजद और कांग्रेस के बीच कुछ बेहतर संबंध नहीं है। दोनों के रास्ते लगभग अलग हो चुके हैं, फिर भी प्रियंका गांधी का खुलकर लालू के पक्ष में उतरना यही दिखाता है कि राज्य की राजनीति में, चुनाव में गठबंधन और सीटों की दावेदारी अपनी जगह है, लेकिन देश में लोकतंत्र की रक्षा का सवाल हो, तो वहां एकजुटता जरूरी है।

RJD ने क्यों कहा BJP विधायक चुनाव आयोग के मुंह पर हग रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*