बढ़ते Crime पर भिड़े BJP-JDU, नीतीश को बेबस बनाने का है प्लान?

बढ़ते Crime पर भिड़े BJP-JDU, नीतीश को बेबस बनाने का है प्लान?

अभी नीतीश सरकार के गठन के 15 दिन ही हुए हैं कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने राज्य में बढ़ते अपराध Crime in BIhar) को ले कर सवाल खड़ा कर दिया है.

बढ़े अपराध पर भिड़े BJP-JDU, क्या नीतीश को बेबस बनाने का है प्लान?

महत्वपूर्ण बात यह है कि यह सवाल कोई साधारण कार्यकर्ता नहीं बल्कि बिहार BJP के सबसे बड़े पद पर बैठ ( Sanjay Jaiswal) संजय जयसवाल ने उठाया है. संजय जायसवाल ने पुलिस की लापरवाही और आम जन को परेशान करने का बड़ा आरोप लगा कर नीतीश कुमार पर परोक्ष रूप से निशाना साध दिया है. गौरतलब है कि नीतीश कुमार राज्य के गृह विभाग के मंत्री भी हैं और कानून व व्यस्था की जिम्मेदारी नीतीश कुमार पर ही है.

भाजपा के इस रवैये को नीतीश के प्रति उसकी बदली हुई रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है.

फेसबुक पर उड़ेल दी नाराजगी

डॉ. संजय जायसवाल ने अपने फेसबुक पोस्‍ट में आज सुबह बेतिया से पटना की यात्रा का जिक्र करते हुए लिखा कि रास्ते में पूर्वी चंपारण के सेमरा में जनता ने सड़क जाम कर दिया था। पता चला कि वहां आए दिन चोरियां हो रही हैं। स्‍थानीय तुरकौलिया थाना प्रभारी को फोन करने पर वह उल्टे गांव वालों को धमकाने लगा कि पुलिस आई तो उन्‍हें ही गिरफ्तार करेगी।

PFI के ठिकानों पर छापे, खाली लौटे ED कर्मियों से कहा सीजर लिस्ट देते जाओ

बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष ने आगे लिखा है कि पूर्वी चंपारण के थानों में अव्यवस्था के हालात हैं। रक्सौल से लेकर मोतिहारी तक लगातार अपराध हो रहे हैं। मोतिहारी पुलिस प्रशासन अक्षम सिद्ध हो रहा है। उन्‍होंने रक्सौल हत्याकांड का भी जिक्र करते हुए लिखा है कि इसमें भी अभी तक कोई नतीजा नहीं निकला है। डॉ. जायसवाल ने लिखा है कि वे पटना पहुंचने पर खुद पुलिस महानिदेशक से मिलकर पूर्वी चंपारण की कानून व्यवस्था के बारे में बात करेंगे।

माना जा रहा है कि भाजपा की नीतीश सरकार के प्रित बदलते रवैये का असल कारण इस चुनाव में भाजपा को मिली ज्यादा सीटें हैं. भाजपा को 74 सीटें मिली हैं जबकि जदयू को मात्र 33 सीटें मिली हैं. 2005 के बाद यह पहला अवसर है कि भारतीय जनता पार्टी बिहार में अपने सहयोगी जदयू से ज्यादा सीटें लेने के बावजूद नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री का पद दे दिया है.

बिहार सरकार के असहयोग के चलते, दिल्ली में पैरोल पर रहेंगें शहाबुद्दीन

उधर इस मामले में कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा है कि बिहार में कानून का राज नहीं रहा। बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष डीजीपी से मिलने की बात करते हैं। उन्‍हें तो अपने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार से मिलना चाहिए। बीजेपी के दो-दो उपमुख्‍यमंत्री भी हैं। उन्‍होंने कहा कि बिहार कानून के राज के लिए बीजेपी भी समान रूप से जिम्मेदार है।

दूसरी तरफ राष्‍ट्रीय जनता दल के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा तेजस्वी यादव के बिहार में अपराधियों के राज की बात की पुष्टि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने भी कर दी है। उन्‍होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास गृह विभाग रहने के कारण बीजेपी सोची-समझी रणनीति के तहत ऐसी बात कर रही है। बात तो सही की जा रही है, लेकिन यह दबाव की राजनीति भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*