BPSC रिजल्ट विवाद: तेजस्वी ने कहा नागपुर में जमीर गिरवी रख चुके नीतीश का आरक्षण घोटाला

BPSC रिजल्ट विवाद: तेजस्वी ने कहा नागपुर में जमीर गिरवी रख चुके नीतीश का आरक्षण घोटाला

Tejashwi yadav

तेजस्वी का सरकार पर हमला, कहा आरक्षण घोटाला किया नीतीश ने

BPSC सिविल सेवा परीक्षा में OBC से कम अंक प्राप्त करने वाले सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के चयन पर तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार ने नागपुर में अपना जमीर गिरवरी रख कर आरक्षण घोटाला किया है.

तेजस्वी ने कहा है कि नीतीश जी ने अपनी नैतिकता, अंतरात्मा और ज़मीर को नागपुर में गिरवी रख दिया है। जनादेश डकैती के बाद अब नीतीश जी अपनी अगुवाई में आरक्षण पर भी डाका डलवा रहे है।

तेजस्वी ने एक बयान में कहा है कि BPSC परीक्षा में OBC का कट ऑफ़ सामान्य से ज़्यादा होने के बावजूद भी OBC के साथ घोर अन्याय किया जा रहा है। तेजस्वी ने CM से इस मामले में जवाब देने को कहा है.

आरक्षण घोटाला

गौरतलब है कि BPSC सिविल सेवा परीक्षा 2019 में चौंकाने वाला परिणाम आया है. इस बार के परीक्षा परिणाम में सामान्य वर्ग का कटआफ 588 नम्बर रहा है जबकि OBC  का कटआफ 595 अंक पर चला गया.

 

Related Story

तो इसलिए है सबानाज का BPSC में सफल होना महत्वपूर्ण

OBC महिला का कट-ऑफ सामान्य श्रेणी के पुरुष के बराबर 588 है। जबकि, सामान्य श्रेणी महिला का कट-ऑफ 575, एससी पुरुष व महिला का क्रमश: 553 व 525, एसटी का 575 व 547, अति पिछड़ा वर्ग का 564 व 554, पिछड़ा वर्ग महिला का 564, स्वतंत्रता सेनानी के नाती-नातिन व पोता-पोती कैटेगरी का 571 कट-ऑफ रहा।

 

Related Story  बिहार की पहली मुस्लिम बेटी बनी IPS

इस संबंध में BPSC के परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने सफाई देते हुए कहा है कि OBC के अभ्यर्थियों द्वारा दिये गये सेवा अधिमानता के अनुसार यह कटआफ तैयार किया गया है.

उठ रहे हैं सवाल

इस परिणाम के आने के बाद आम लोगों के जहन में यह सवाल आ रहा है कि  आरक्षण कटेगरी के अभ्यर्थियों का कटआफ सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों से ज्यादा कैसे हो सकता है. सवाल यह भी पूछा जा रहा है कि आरक्षित वर्ग का अभ्यर्थी अगर सामान्य वर्ग में चयनित होता है तो फिर उसे आरक्षित कटेगरी में क्यों रखा गया है.

तेजस्वी यादव ने इन्हीं तथ्यों के आधार पर नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा है कि उन्होंने अपना जमीर नागपुर (आरएसएस मुख्यालय में गिरवी रख दिया है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*