CAA-NPR के खिलाफ पटना में आंदोलन ने लिया नयां रंग, पुलिस ने दिखाई तानाशाही

CAA-NPR के खिलाफ पटना में आंदोलन ने लिया नयां रंग, पुलिस ने दिखाई तानाशाही

CAA-NPR के खिलाफ पटना में आंदोलन ने लिया नयां रंग, पुलिस ने दिखाई तानाशाही

 

पटना में CAA, NPR के विरोध का एक नया दौर शुरू हो गया है. उधर  पुलिस अपने जुल्मी धौंस से बाज नहीं आ रही. प्रदर्शनकारियों के साथ धक्कामुक्की व गिरफ्तार करने की असफल कोशिश हुई है.

शुक्रवार को पटना युनिवर्सिटी के सामने विभिन्न छात्र संगठनों ने NPR-CAA के खिलाफ सांस्कृतिक विरोध का आयोजन किया जबकि गांधी मैदान की गांधीमूर्ति के पास कंचन बाला के नेतृत्व में लोकतांत्रिक जनपहल ने अनशन की शुरुआत की.


नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन में आमिर हंजला की शहादत, पुलिस ने किया कंफर्म


पटना युनिवर्सिटी के पास सांस्कृितक विरोध कर रहे मुश्ताक राहत ने आरोप लगाया है कि चार थानों की पुलिस के साथ डीएसपी पहुंचे और उन्होंने मेरे साथ बदसुलूकी की और हिरासत में लेने का प्रयास किया. लेकिन प्रदर्शनकारियों द्वारा भारी विरोध किये जाने के बाद पुलिस वहां से चली गयी. मुश्ताक राहत ने कहा कि वे लोग सड़क पर प्रदर्शन नहीं कर रहे थे बल्कि वह सांस्कृतिक कार्यक्रम के द्वारा नागरिकता कानून का विरोध कर रहे थे. इस अवसर पर संतोष झा के नेतृत्व में हिरावल के लोगों ने फैज अहमद फैज की नज्म से नागरिकता कानून का विरोध किया.

 

उधर लोकतांत्रिक जन पहल की नेता कंचन बाला के नेतृत्व में नागरिकता कानून व NPR के खिलाफ गांधी मैदान स्थित गांधी मूर्ति के निकट अनश की शुरुआत की. इस दौरान भी फैज की नज्म- हम देखेंगे गाया गया. कंचन बाला ने बताया कि यह अनशन लगातार एक हफ्ता तक चलेगा.

इस अवसर पर व्कताओं ने नागरिकता संशोधन कानून और एनपीआर को भारतीय संविधान के खिलाफ बताया और कहा कि गरीब लोगों के मां बाप की जन्मतिथि का रिकार्ड किसी भी हाल में नहीं मिल सकता.


सुनो 20 करोड़ मुसलमानो! वादा करो हम NRC में नाम दर्ज नहीं करायेंगे, वे हमें देश से निकाल कर दिखायें

———————————————– ——————————————————

इस अनशन में विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रभावशाली लोग शामिल हुए. इनमें शफी मशहदी, आजमी बारी, एमए इब्राहिमी, प्रो. सतीश, विद्यार्थी विकास, अफजल खान, अनवारुल होदी, जमात इस्लामी के रिजवान इस्लाही,राशिद हुसैन, माला दास, कीर्ति, रिषी आनंद, नसरीन बानों, उदय नारायण चौधरी, सीस्टर लीमा रोज, नुसरत परवीन,प्रतिमा कुमारी, अश्रिता, अतुल, अशोक कुमार, मदन कृष्ण, मणिलाल, कृष्ण मुरारी , रवींद्र प्रसाद सिन्हा, डॉ. एए हई. आसमा खान, विनोद रंजन सहित सैकड़ों लोग शामिल हुए.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*