चिराग ने की राहुल गांधी की तारीफ, तो कांग्रेस सांसद ने कहा – समझ लिया है मौसम का मिजाज

रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के जाने के बाद एनडीए में सबकुछ अभी भी सही नहीं चला रहा है। एनडीए के घटक दल लोजपा ने भी आखें तरेरनी शुरू कर दी है। इसी बीच लोजपा नेता व राम विलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी की तारीफ कर दी। वहीं, कांग्रेस की सांसद ने पासवान के बयान पर कहा कि उन्‍होंने समझ लिया है मौसम का मिजाज।

रंजीत- चिराग

नौकरशाही डेस्क

लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने मंगलवार को एनडीए को नाजुक दौर में बताकर भाजपा को अप्रत्यक्ष रूप से निशाने पर लिया था,वहीं बुधवार को चिराग ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की जमकर तारीफ कर दी।

<blockquote class=”twitter-tweet” data-lang=”en”><p lang=”hi” dir=”ltr”>गठबंधन की सीटों को लेकर कई बार भारतीय जनता पार्टी के नेताओ से मुलाक़ात हुई परंतु अभी तक कुछ ठोस बात आगे नहीं बढ़ पायी है।इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुक़सान भी हो सकता है।</p>&mdash; Chirag Paswan (@ichiragpaswan) <a href=”https://twitter.com/ichiragpaswan/status/1075039079945908226?ref_src=twsrc%5Etfw”>December 18, 2018</a></blockquote>
<script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

चिराग पासवान ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि उनके अंदर सकारात्मक बदलाव आया है।

उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी लंबे समय बाद जीती है। अगर आप किसी की आलोचना करते हैं, तो आपको उनके अच्छे प्रदर्शन पर उनकी तारीफ भी करनी चाहिए। बता दें कि 31 दिसंबर तक लोजपा ने एनडीए से सीटें पर फैसला करने को कहा है।

उधर, कभी लोजपा में रहीं वर्तमान में कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन ने पासवान के मूव पर कहा कि चिराग पासवान  और राम विलास पासवान ने मौसम के मिजाज को समझा लिया है। और अब वो डूबती हुई नैया में पांव नहीं रखना चाहते हैं। उन्हें एहसास हो चुका है कि जो मुद्दे ये एनडीए के साथ लेकर चल रहे हैं वो गलत है।

इसे भी देखें : बिहार को विशेष राज्‍य का दर्जा दिलाना कांग्रेस की प्राथमिकता : रंजीत रंजन

वहीं, महागठबंधन में लोजपा के शामिल होने को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में रंजीत रंजन ने कहा कि वैसे तो ये तय आलाकमान करती है। लेकिन, अगर वे आना चाह रहे हैं तो मुझे लगता है कि हमारे दरवाजे खुले हैं। हम स्वागत करेंगे।

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*