चुनाव आयोग ने राहुल को पनौती वाले बयान पर थमाया नोटिस

चुनाव आयोग ने राहुल को पनौती वाले बयान पर थमाया नोटिस

चुनाव आयोग ने राहुल को पनौती वाले बयान पर थमाया नोटिस। आयोग ने 25 नवंबर तक जवाब देने को कहा है। जवाब से संतुष्ट न होने पर होगी कार्रवाई..।

भाजपा ने कल बुधवार को चुनाव आयोग में राहुल गांधी के खिलाफ शिकायत की और 24 घंटे के भीतर आयोग ने राहुल को नोटिस थमा दिया। भाजपा ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया था कि उन्होंने प्रधानमंत्री के लिए पनौती शब्द का इस्तेमाल किया, जो अपमानजनक है। उन्होंने प्रधानमंत्री का अपमान किया है। अब आज गुरुवार को चुनाव आयोग ने नोटिस जारी करके 25 नवंबर तक जवाब देने को कहा है। अगर उनके जवाब से चुनाव आयोग संतुष्ट नहीं होगा, तो आयोग उनके खिलाफ कार्रवाई भी कर सकता है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कोई बड़ी बात नहीं है। चुनाव चल रहा है। हम आयोग के नोटिस का जवाब देंगे।

भाजपा ने पनौती तथा जेबकतरे वाले बयान पर आपत्ति जताई थी। राहुल गांधी ने राजस्थान की एक सभा में कहा था कि विश्व कप में हमारे लड़के अच्छा भला खेल रहे थे, लेकिन पनौती ने मैच हरवा दिया। राहुल गांधी ने कई सभाओं में जेबकतरों का उदाहरण भी दिया है, जिसमें उन्होंने कहा कि जेबकतरा कभी अकेला नहीं होता। वे तीन होते हैं। एक ध्यान भटकाता है, दूसरा जेब काटता है और तीसरा दूर से सारी चीजों पर नजर रखता है। भाजपा ने इस बयान पर भी आपत्ति जताई थी।

उधर सोशल मीडिया में कई लोगों ने सवाल उठाया है कि प्रधानमंत्री मोदी ने मूर्खों का सरदार कहा, लेकिन उस पर आयोग ने कोई कार्रवाई नहीं की। इस बीच चुनाव आयोग ने राजस्थान में कांग्रेस की सात गारंटियों के प्रचार पर रोक लगा दी है। नोटिस जारी होने के थोड़ी देर बाद ही सोशल मीडिया में #ElectionCommission ट्रेंड करने लगा, जिसमें लोग आयोग की निष्पक्षता पर सवाल उठा रहे हैं।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा, उन्हें नोटिस भेजने दीजिए, हम इसका जवाब देंगे। यह कोई बड़ी बात नहीं है। ऐसी कोई गंभीर टिप्पणी नहीं की गई, लेकिन चुनाव चल रहा है तो हाइप बनाई जा रही है। हम नोटिस का जवाब देंगे।

भारत ने सारे मैच जीते, जिसमें पापी पहुंचे वही हार गए : ममता