तेजस्वी यादव ने भरा नामांकन : दावा किया हमारी सरकार बनेगी, सौगंध पूरा करेंगे

तेजस्वी यादव ने भरा नामांकन : दावा किया हमारी सरकार बनेगी, सौगंध पूरा करेंगे

महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने वैशाली ज़िले के राघोपुर विधान सभा सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है.

उन्होंने दावा किया कि हम सरकार बनाने जा रहे है और वह बिहार के लिए काम करने की सौगंध पूरा करेंगे। आज नामांकन भरने के बाद तेजस्वी ने कहा कि अगले दो दिनों में पार्टी का मैनिफेस्टो (चुनावी घोषणापत्र) जारी किया जायेगा। नामांकन के समय उनके साथ बड़े भाई तेज प्रताप यादव यादव एवं राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह भी मौजूद रहे.

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने राघोपुर सीट से नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद मीडिया से कहा कि नीतीश कुमार के खिलाफ नौजवानों में भारी आक्रोश है.

तेजस्वी ने नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए पटना से रवाना होने से पहले ट्वीट कर जनता एवं समर्थकों को इसकी जानकारी दी और आशीर्वाद माँगा. उन्होंने ट्वीट में कहा कि मैंने सौगंध ली है कि बिहार के हित में सदा कार्य करता रहूँगा। हर बिहारवासी को जब तक उनका हर अधिकार नहीं दिला देता, चैन से बैठने वाला नहीं हूँ। इस सौगंध को पूरा करने के क्रम में आज नामांकन करने जा रहा हूँ। परिवर्तन के इस शंखनाद में आपके स्नेह, समर्थन और आशीर्वाद का आकांक्षी हूँ। तेजस्वी ने नामांकन करने से पहले माता राबड़ी देवी और बड़े भाई तेज प्रताप यादव के पैर छूकर आशीर्वाद भी लिया।

राघोपुर सीट से जदयू के उम्मीदवार सतीश कुमार यादव है जो लगातार तीसरी बार इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. तेजस्वी ने 2015 के बिहार चुनाव में सतीश यादव को पराजित किया था.

नामांकन के कुछ घंटो पहले उन्होंने जदयू अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चुनौती देते हुए कहा कि नीतीश अपने गृह ज़िले नालंदा से नामांकन करें, मैं भी वहीं से चुनाव लडूंगा और उन्हें हरा कर दिखायूँगा।

नीतीश कुमार ने भी बुधवार को सुल्‍तानगंज की सभा में तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना उनकी जमकर निंदा की। नीतीश ने कहा कि कुछ लोग बस मेरी आलोचना करते रहते हैं, लेकिन जब पति-पत्नी (पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू यादव, राबड़ी यादव) को मौका मिला था तो कुछ नहीं किया। नीतीश ने कहा कि उनकी सरकार में समाज के पिछड़ों और उन तबकों के लिए काम हुआ जिनकी इज्‍जत नहीं होती थी।

राजद नेता एवं महागठबंधन के CM उम्मीदवार तेजस्वी 2015 बिहार विधान सभा चुनाव में इसी राघोपुर सीट से विजय हासिल की थी. राघोपुर सीट राजद की गहरी पकड़ वाली सीट मानी जाती है. तेजस्वी के पिता एवं राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (1995 & 2000) में और तेजस्वी की माँ राबड़ी देवी (2005) में राघोपुर सीट से चुनाव जीत चुके हैं. 2010 में जदयू के सतीश कुमार यादव ने राघोपुर से चुनाव जीतकर इस क्रम को तोडा था. लेकिन तेजस्वी ने 2015 बिहार चुनाव में इस सीट को जीतकर फिर से राजद का कब्ज़ा सुनिश्चित कराया था.

तेजस्वी ने अपने पिता और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव राजद पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि आज उनकी कमी सबको खल रही थी। बिहार के लोग याद कर रहे हैं कि लालू जी होते तो बिहार में महंगाई नहीं होती। उनके समय में कारखाने लगे, स्‍थाई नौकरियां मिलीं।

राष्ट्रीय जनता दल ने नया चुनावी वीडियो गाना तैयार किया है. जिसके बोल हैं इस बार तेजस्वी तय है, इस बार तेजस्वी तय है. ऐसे ही एक और वीडियो में राजद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के 15 सालों के कार्यकाल को काला काल करार दिया है. राजद ने नीतीश कुमार के कार्यकाल में बेरोज़गारी,पलायन, भ्रष्टाचार अपराध को प्रमुख मुद्दा बनाया है..

तेजस्वी ने राघोपुर सीट से नामांकन भरने के बाद समाचार एजेंसी ANI से फिर से अपना वादा दुहराते हुए कहा कि बिहार में महागठबंधन की सरकार बनते ही बिहार के दस लाख बेरोज़गार युवाओं को रोज़गार देंगे। उन्होंने कहा कि युवाओं को सरकारी एवं स्थायी नौकरिया मिलेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*