‘AICC दफ्तर, सोनिया के घर के बाहर पुलिस अघोषित आपातकाल’

‘AICC दफ्तर, सोनिया के घर के बाहर पुलिस अघोषित आपातकाल’

ईडी ने नेशनल हेरल्ड के दफ्तर को सील किया। अब कांग्रेस मुख्यालय पर भारी पुलिस बल। कांग्रेस ने अचानक की प्रेस कॉन्फ्रेंस। क्या बड़े नेता की गिरफ्तारी होगी?

आज ईडी ने नेशनल हेरल्ड अखबार को सील कर दिया। शाम को अचानक कांग्रेस मुख्यालय के सामने भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया। इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के घर के बाहर भी पुलिस की तैनाती की गई है। थोड़ी देर पहले कांग्रेस के बड़े नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और केंद्र सरकार पर बदले की भावना से काम करने, डराने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है, ताकि महंगाई-बेरोजगारी से लोगों का ध्यान भटकाया जा सके। नेताओं ने कहा कि वे डरनेवाले नहीं हैं और जनता के मुद्दे महंगाई-बेरोजगारी के खिलाफ आवाज उठाते रहेंगे। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा-कांग्रेस मुख्यालय एवं 10 जनपथ को पुलिस छावनी बनाने की आज की कार्रवाई अघोषित आपातकाल है। नेशनल हेराल्ड (यंग इंडिया) के दफ्तर को जबरन सील कर दिया गया। एनडीए की इस तानाशाही सरकार के खिलाफ यदि कांग्रेसजनों के साथ आम जनता खड़ी नहीं हुई तो इसका खामियाजा पूरे देश को भुगतना पड़ेगा।

इसी के साथ तरह-तरह की चर्चा शुरू हो गई है। मीडिया में कांग्रेस के किसी बड़े नेता को गिरफ्तार करने की भी अटकलें लग रही हैं। वहीं यह भी माना जा रहा है कि ईडी कांग्रेस दफ्तर में भी प्रवेश कर सकती है।

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा-जो धमकी देते हैं; जो प्रतिशोध की राजनीति करते हैं; जो भय का वातावरण फैलाते हैं, वही डरते हैं। डरने वाले हम नहीं हैं। जिस तरह से हमारे नेताओं, दफ्तरों पर पुलिस का पहरा है, साफ लग रहा है कि यह भय की राजनीति है। यह लोकतांत्रिक तरीका नहीं है, हम भागेंगे नहीं। 5 अगस्त को हमारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन जरूर होगा। मोदी सरकार 2 हफ्ते तक सदन में महंगाई पर चर्चा से भागती रही। अब 5 अगस्त को हमारे प्रदर्शन को रोकने के लिए गृहमंत्री और दिल्ली पुलिस आज से ही शुरुआत कर चुके हैं।

कांग्रेस नेता अडय माकन ने कहा-आज AICC, 10 जनपथ, 12 तुगलक लेन पर पुलिस पहरा… किसलिए? ताकि हम पर दबाव डाला जाए और हम महंगाई, बेरोजगारी और खाद्य पदार्थों पर लगी GST के खिलाफ जनता की आवाज़ न उठा सकें।

प्रधानमंत्री के तिरंगा आह्वान का राजद-जदयू पर कोई असर नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*