कांग्रेस के हुए कन्हैया, बोले- कांग्रेस नहीं बची, तो देश नहीं बचेगा

कांग्रेस के हुए कन्हैया, बोले- कांग्रेस नहीं बची, तो देश नहीं बचेगा

आज युवा नेता कन्हैया कुमार और युवा दलित नेता विधायक जिग्नेश मेवानी कांग्रेस में शामिल हो गए। राहुल गांधी ने कन्हैया को सदस्यता दिलाई।

जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई नेता कन्हैया कुमार तथा गुजरात के विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवानी कांग्रेस में शामिल हो गए।

कन्हैया कुमार ने प्रेस वार्ता में कहा कि जिस देश में विपक्ष नहीं रहता, वहां सत्ता निरंकुश हो जाती है। कांग्रेस देश की सबसे पुरानी पार्टी है। उन्होंने महात्मा गांधी, आंबेडकर और भगत सिंह की विशेष चर्चा की। भगत सिंह के साहस, आंबेडकर की बराबरी तथा गांधी की एकता की जरूरत है। आज देश में लोकतंत्र खतरे में हैं। संविधान खतरे में है। डेड बॉडी पर डांस हो रहा है।

जिग्नेश मेवानी ने कहा, गुजरात से जो कहानी शुरू हुई, वह आज देश में तबाही ला रहा है। दिल्ली में संविधान जलाया जा रहा है। आईडिया ऑफ इंडिया को बचाना है। हम इसीलिए कांग्रेस में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि निर्दलीय विधायक होने के कारण वे तकनीकी रूप से शामिल नहीं हो रहे, पर 2022 में कांग्रेस के चुनाव चिह्न से ही लड़ेंगे। आज वैचारिक तौर पर कांग्रेस के साथ जुड़ रहे हैं।

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कन्हैया और मेवानी के शामिल होने पर कहा कि तीनों कट्टरपंथ और मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों के खिलाफ लड़ते रहे हैं।

बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्तचरण दास ने कहा कि राहुल गांधी ने दोनों नेताओं को संविधान की प्रति दी। राहुल-कन्हैया और मेवानी तीनों ने एक फोटो फ्रेम को पकड़ रखा था, जिसमें आंबेडकर, गांधी और भगत सिंह की तस्वीरें थीं।

इससे पहले राहुल गांधी, कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवानी ने भगत सिंह की प्रतिमा पर माला चढ़ाई। तीनों नेता पीले रंग की पगड़ी बांधे हुए थे। पीली पगड़ी भगत सिंह से जोड़कर देखी जाती है। कन्हैया लाल शर्ट में, मेवानी नीले रंग के और राहुल गांधी सफेद कुर्ते में थे। कुर्ते का रंग भी काफी कुछ कहता है।

कन्हैया और जिग्नेश के कांग्रेस में शामिल होने से भाजपा की परेशानी न सिर्फ बिहार और गुजरात, बल्कि देशभर में बढ़ेगी। इसका प्रमाण है कि आज सुबह से भाजपा समर्थक और आईटी सेल कन्हैया के खिलाफ सोशल मीडिया पर बददुआएं दे रहा था। इस अवसर पर गुजरात के युवा नेता हार्दिक पटेल, बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष भी उपस्थित थे।

JDU : ललन की नई टीम, सचिवमंडल में 15, उपाध्यक्ष नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*