कांग्रेस लंबी लड़ाई को तैयार, पूछा- BJP, गोदी मीडिया में सन्नाटा क्यों

कांग्रेस लंबी लड़ाई को तैयार, पूछा- BJP, गोदी मीडिया में सन्नाटा क्यों

आज कांग्रेस ने अपने तेवर और भी कड़े कर दिए। लगता है वह केंद्रीय मंत्री के परिवार द्वारा मुर्दा के नाम बार (शराब घर) चलाने के खिलाफ लंबी लड़ाई को तैयार है।

कुमार अनिल

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी के मुर्दा के नाम पर बार का लाइसेंस लेने के खिलाफ आज कांग्रेस ने अपने तेवर और भी कड़े कर दिए। लगता है पार्टी इस मुद्दे को आसानी से छोड़नेवाली नहीं है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने आज प्रेस वार्ता करके भाजपा पर जबरदस्त हमला किया। कांग्रेस की दूसरी प्रवक्ता सुप्रीया श्रीनेत ने गोदी मीडिया को चुनौती दी। कहा, हिम्मत है तो केंद्रीय मंत्री के परिवार के मुर्दा के नाम पर बार चलाने पर बहस करके दिखाएं।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा-आपके समर्थकों के बच्चे तो लूलू मॉल लूलू मॉल खेलें, सड़कों पर नमाज़ और हनुमान चालीसा की लड़ाई लड़ें और आपके बच्चे विदेशों में पढ़ें और गोवा में ग़ैर क़ानूनी बार का कारोबार करें। भाजपा को इसका जवाब देना चाहिए। खोड़ा ने कहा- आपको लगेगा कि भाजपा की नेता से सम्बंधित बार का नाम तो तुलसी संस्कारी बार होगा, लेकिन नहीं। इस बार का नाम है सिली सोल्ज़ बार एंड कैफ़े।

पवन खेड़ा ने कहा-किस के हस्तक्षेप से इस बार को लाइसेन्स मिला? किस के प्रभाव के चलते यह ग़ैर क़ानूनी बार चल रहा है? कौन उस आबकारी आयुक्त की ट्रान्स्फ़र करवाने की कोशिश कर रहा है जिसने स्मृति ईरानी के परिवार को नोटिस दिया?

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रीया श्रीनेत ने तंज कसा-‘संस्कारियों’ के ख़ेमे में इतना सन्नाटा क्यों है भाई? उन्होंने पूछा-मुर्दों के नाम पर बार का व्यापार स्मृति ईरानी जी के ऊपर लगे गम्भीर आरोप पर कितने TV चैनल आज डिबेट कर रहे हैं? श्रीनेत ने कहा-हम ‘अख़बार’ चलाएं तो कर देते हो बदनाम वो ‘बार’ भी चलाएं तो चर्चा नहीं होतीय़ मालूम हो कि नेशनल हेरल्ड अखबार को लेकर राहुल गांधी और सोनिया गांधी से ईडी पूछताछ कर चुकी है। कांग्रेस ने यह भी कहा कि सिर्फ अपनी सियासत चमकाने के लिए दूसरों पर कीचड़ उछालने वाली स्मृति ईरानी जी आज खामोश हैं ! स्मृति ईरानी जी की बर्खास्तगी में देरी का मतलब है कि पीएम मोदी भ्रष्टाचार को संरक्षण देते हैं।

देशभर में छा गए राजद सांसद, मोदी-केजरीवाल पर बड़ा सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*