कांग्रेस, राजद, एमआईएम ने AMU किशनगंज के लिए उठाई आवाज

कांग्रेस, राजद, एमआईएम ने AMU किशनगंज के लिए उठाई आवाज

AMU किशनगंज के लिए 2014 में यूपीए सरकार ने फंड का प्रावधान किया, जिसे मोदी सरकार ने अब तक रोक रखा है। फंड रिलीज करने को लेकर शुरू हुआ अभियान।

एएमयू किसऩगंज के लिए निर्धारित फंड जारी करने के लिए आज चला अभियान।

आज कांग्रेस, राजद और एमआईएम ने AMU किशनगंज के लिए निर्धारित फंड तुरत रिलीज करने की मांग पर अभियान छेड़ दिया है। आज कई जगह इस मांग पर लोगों ने प्रदर्शन किए। सोशल मीडिया में भी अभियान चल रहा है।

कांग्रेस के किशनगंज से सांसद डॉ. मो. जावेद लंबे समय से फंड रिलीज करने की मांग करते रहे हैं। पिछले महीने 15 दिसंबर, 2021 को उन्होंने इस संबंध में शिक्षा मंत्री को पत्र लिखा। 28 दिसंबर को शिक्षा मंत्री ने जवाब में लिखा कि पत्र को संबंधित विभाग में भेज दिया गया है। अब उन्होंने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से भी मिलकर फंड रिलीज करने का आवेदन दिया। उन्होंने इस मुद्दे पर समर्थन हासिल करने के लिए दिल्ली में विपक्षी सांसदों से मुलाकात की। बिहार कांग्रेस ने कहा कि 2014 में यूपीए की केंद्र सरकार द्वारा AMU किशनगंज के भवन, प्रयोगशाला, छात्रावास और खेल मैदान सहित सभी आवश्यक संसाधनों के लिए 136.82 करोड़ रुपये का फंड दिया गया था। फंड अभी तक जारी क्यों नहीं किया गया।

इस बीच एमआईएम के विधायक अख्तरूल ईमान ने आज एक वीडियो जारी करके एएमयू किशनगंज के निर्माण को गति देने, फंड रिलीज कराने के लिए चल रहे अभियान का समर्थन किया। अख्तरूल ईमान भी लगातार इस मुद्दे को उठाते रहे हैं। उन्होंने जिला प्रशासन को भी इस मुद्दे पर सक्रिय होने को कहा। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी आबादी शिक्षा से वंचित हो रही है।

प्रदेश राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने एक बायन जारी कर एएमयू किसऩगंज के लिए निर्धारित फंड को रोके जाने की कड़ी आलोचना करते हुए केंद्र सरकार से अविलंब फंड रिलीज करने की मांग की। सोशल मीडिया पर अनेक लोगों ने मांग के समर्थन में पोस्टर के साथ तस्वीरें साझा की हैं।

RRB NTPC : महागठबंधन भी कूदा बंद में, क्या हिल जाएगा बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*