माले का ऐलान घर घर जायेंगे, कागज नहीं दिखायेंगे

 CAA पर  माले का ऐलान घर घर जायेंगे, कागज नहीं दिखायेंगे

माले का ऐलान घर घर जायेंगे, कागज नहीं दिखायेंगे

जाले प्रखंड कार्यालय परिसर में आयोजित संविधान बचाओ-नागरिकता बचाओ जनएकता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए भाकपा माले पोलित ब्यूरो के सदस्य धीरेन्द्र झा ने कहा कि CAA, NPR और NRC एकीकृत संघी भाजपाई प्रोजेक्ट है जिसका उद्देश्य भारत के लोकतांत्रिक समावेशी सेक्युलर संविधान को ध्वस्त करना है।

 

उन्होंने कहा कि इससे हर भारतीय को खतरा है।दलित,आदिवासी और वंचित जमात के वे लोग ज्यादा प्रभावित होंगे जो भूमिहीन और गृहविहीन हैं।उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि संघी हमले के खिलाफ पूरे भारत का खड़ा होना बड़ी बात है और यह नए जागरण का आधार तैयार कर रहा है।

 

छात्र-नौजवानों,महिलाओं,दलितों और अक्लियतों के इस विराट आंदोलन में मज़दूर-किसानों की भागीदारी को बढ़ाना है।तमाम तिकड़मों और दबावों के बावजूद सुप्रीम कोर्ट की क्लीन चीट नही मिलना आंदोलन के लिए बड़ी उपलब्धि है।नागरिकता को धर्म से जोड़ना भारत के संविधान और लोकतंत्र पर बड़ा हमला है।

 

उन्होंने 25 जनवरी को 12 बजे से 1बजे तक लगने वाली इंसानी जंजीर/मानव श्रृंखला को सफल बनाने का आह्वान करते हुए कहा कि एनपीआर रोकने की मुहिम तेज़ करनी होगी।

 

उन्होंने कहा कि  नीतीश कुमार एनपीआर रोकें,वरना कुर्सी खाली करो नारे के तहत 25 फरबरी को विधानसभा मार्च होगा।दलित-गरीबों को उजाड़ने के नोटिस पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि नीतीश जी को नोटिस वापस लेना होगा,सिर्फ बयानों से काम नही चलेगा।

 

सम्मेलन को अतिथि के बतौर माले जिला सचिव बैद्यनाथ यादव ने कहा कि हरियाली योजना के नाम पर बिहार मे गरीबों को उजाड़ने वाले नीतीश सरकार के खिलाफ जन संघर्ष को तेज करने के साथ 25 जनवरी को काला कानून के खिलाफ पूरे बिहार मे मानव जंजीर ऐतिहासिक होगा। इंसाफ मंच के राजउपाध्यक्ष नेयाज अहमद सिद्दीकी ने कहा कि देश मे आपात का दौर है इसके खिलाफ व्यापक संघर्ष एक मजबुत संगठन के बल पर हीं जीता जा सकता है।

 

इस मौके पर सम्मेलन की अध्यक्षता प्रखण्ड सचिव ललन पासवान ने किया। सम्मेलन को भाकपा माले जिला कमिटी सदस्य देवेन्द्र कुमार, हम के नेता नरेश चौधरी, कांग्रेस के तनवीर अनवर, प्रो खादिम हुसैन, आइसा नेता मयंक कुमार, संदीप कुमार, भोला पासवान, शुशील मिश्र, मो गौस, मो फेसल, सुममिया प्रवीण, उदय यादव, मदन राय, वीरेन्द्र पासवान, मन्नी बेगम आदि ने सम्बोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*