देश का एकमात्र साध्वी संघ, जिसने मनाया महिला दिवस

देश का एकमात्र साध्वी संघ, जिसने मनाया महिला दिवस

आपने शायद कभी न सुना हो कि देश में कोई साध्वी संघ ऐसा है, जिसने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस आयोजित किया। पद्मश्री आचार्यश्री चंदना जी ने धर्म को दी नई दिशा।

फाइल फोटो, राजगीर

कुमार अनिल

आज दैनिक भास्कर के पटना संस्करण ने बिहार की पांच सर्वकालिक महिलाओं का चुनाव किया है। इनमें भारत रत्न और प. बंगाल के मुख्यमंत्री डॉ. विधानचंद्र राय की मां अघोर कामिनी देवी हैं, जिन्होंने 1891 में बिहार में लड़कियों के लिए पहला स्कूल खोला। तत्कालीन वायसराय लॉर्ड एल्गिन की पत्नी लेडी एल्गिन की पहल पर 1895 में बिहार में पहला जनाना (महिला) अस्पताल खुला, 1940 में मदर एम. जोसेफिन ने लड़कियों की उच्च शिक्षा के लिए पटना वीमेंस कॉलेज की स्थापना की। 1940 में ही लोकनायक जेपी की पत्नी और लंबे समय तक गांधी आश्रम में रह चुकीं प्रभावती देवी ने पटना में चरखा क्लास शुरू किया, जिससे महिलाएं आत्मनिर्भर हो सकें। भास्कर ने इसी श्रेणी में जैन धर्म की पहली महिला आचार्य पद्मश्री आचार्यश्री चंदना जी को चुना है।

आज देशभर में महिलाओं ने बराबरी, सम्मान और अपने हक के लिए अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया। क्या आपने कभी सुना है कि किसी साध्वी संघ ने महिला दिवस मनाया हो? कुछ दूसरे पंथ से फोन कर जानने की कोशिश की, तो मालूम हुआ कि साध्वी महिला दिवस में नहीं जातीं। आचार्यश्री चंदना जी, जिन्हें सम्मान के साथ ताई मां कहते हैं, के नेतृत्व में साध्वी संघ ने आज पालिताणा (गुजरात) में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया।

आचार्यश्री चंदना जी ने धर्म और साधु-साध्वी की नई परिभाषा दी है। उन्होंने राजगीर में लगभग 50 वर्ष पहले वीरायतन की स्थापना की। तब आज जैसा राजगीर नहीं था। आज जहां सुंदर वीरायतन है, तब वहां जंगल-झाड़ थे। साध्वी संघ ने वहीं रह कर वीरायतन निर्माण शुरू किया। एक बार डाकुओं ने डाका डाला और साध्वी संघ के सारे सामान, बर्तन तक ले गए। फिर देशभर से लोगों ने मना किया किया कि छोड़ दीजिए। लेकिन आचार्यश्री ने कहा कि अस्पताल बनकर रहेगा। आचार्यश्री के सेवा, शिक्षा पर काम उदाहरण हों, साथ ही वे हमेशा विश्व-मैत्री पर जोर देती हैं।

आज वीरायतन का आई-हास्पिटल लाखों गरीबों को रोशनी दे चुका है। वीरायतन ने धर्म को नई दिशा दी। वीरायतन के तीन लक्ष्य हैं- सेवा, शिक्षा और साधना। सबसे पहले है सेवा। वीरायतन के स्कूलों में गरीब-अमीर, हिंदू-मुसलमान सबके बच्चे पढ़ते हैं।

आज आचार्यश्री चंदना जी फिलहाल पालिताणा गई हैं। वहीं उनके नेतृत्व में महिला दिवस मनाया गया। इस अवसर पर सैकड़ों लड़कियों ने बाजे-गाजे के साथ जुलूस निकाला। जोश-उमंग देखने लायक है। फिर ताई मां ने संदेश दिया। ये है वीडियो का लिंक। आप भी देखिए-

https://fb.watch/bD0ckaltww/

कुछ थकान मिटा रहे, कुछ माथापच्ची, प्रियंका ने निकाला मार्च

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*