देश का माहौल चिंतानजक, संसद का विशेष सत्र बुलाएं पीएम : कांग्रेस

देश का माहौल चिंतानजक, संसद का विशेष सत्र बुलाएं पीएम : कांग्रेस

आज कांग्रेस ने एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया कि वे देश में शांति और भाईचारे की अपील करें। कांग्रेस ने संसद का विशेष सत्र बुलाने की भी मांग की।

राजस्थान में बर्बर हत्याकांड के बाद वहां एक हद तक सरकार ने स्थिति पर नियंत्रण कायम कर लिया है। आज मुख्यमंत्री अशोक गहलौत घटना में मारे गए कन्हैया लाल के घर पहुंचे। उन्होंने परिजनों से मुलाकात की और सरकार की कार्रवाई के बारे में जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि उनकी कोशिश होगी कि एक महीने के भीतर हत्यारों को सजा मिले।

इस बीच दिल्ली में कांग्रेस ने विशेष प्रेस वार्ता में कहा कि देश का माहौल सामान्य करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के लोगों से शांति और भाईचारे की अपील करें। कांग्रेस ने यह भी मांग की कि संसद का विशेष सत्र बुलाया जाए। कांग्रेस की अलका लांबा ने कहा कि 13 दलों ने प्रधानमंत्री से बढ़ते नफरते के खिलाफ ठोस पहल करने की अपील की है।

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने कहा आज देश में सांप्रदायिकता बढ़ रही है। 2020 में सांप्रदायिक हिंसा की कुल 857 घटनाएं हुईं, जो 2019 की तुलना में 96% ज़्यादा थी। वर्ष 2020 में ही दिल्ली में सांप्रदायिक दंगों की 520 घटनाएं हुईं, इसी तरह देश भर के आंकड़ों में वृद्धि हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि देश में भड़के किसी भी दंगे या हिंसा का इस्तेमाल भारतीय जनता पार्टी अपने चुनावी मंचों में करती है, उसका लाभ उठाने की कोशिश करती है।

कांग्रेस जोर देकर कहा कि जिस देश में भय का माहौल हो, वहां निवेश नहीं आएंगे। एक तरफ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमारे पत्रकारों को उनकी निडरता, निर्भीकता और सच्चाई से चलती कलम के लिए सम्मानित किया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर केंद्र की भाजपा सरकार पत्रकारों को गिरफ्तार कर, उनकी कलम रोकने की कोशिश कर रही है।

आश्चर्य, रहस्यपूर्ण ! जुबैर को जेल भिजवानेवाला ट्विटर अ. अब ‘मृत’