किसानों के लिएअवार्ड वापसी के बाद DIG का त्यागपत्र

किसानों के लिएअवार्ड वापसी के बाद DIG का त्यागपत्र

18 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन को तीव्रता काफी बढ़ती जा रही है. इस बीच किसानों के समर्थन में पंजाब के DIG इस्तीफा दे कर आंदोलन में कूद पड़े हैं.

DIG (जेल) लखमिंदर सिंह जाखड़( Lakhwindar Singh Jakhar) ने रविवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। ADGP (जेल) पीके सिन्हा ने इस्तीफे की कॉपी मिलने की पुष्टि की है।

JDU 72 सीटें क्यों हारा? पता करने से पहले 5 कारण जानिये

लखमिंदर ने लिखा कि प्रदेश के किसान परेशान हैं। ठंड में खुले आसमान के नीचे सड़कों पर बैठे हैं। मैं खुद एक किसान का बेटा हूं, इसलिए इस आंदोलन का हिस्सा बनना चाहता हूं। तुरंत प्रभाव से पदमुक्त करें, ताकि दिल्ली जाकर अपने किसान भाइयों के साथ मिलकर अपने हक के लिए लड़ सकूं।

भारत के किसान मोदी सरकार द्वारा बनाये गये तीन कृषि कानूनों के खिलाफ 18 दिनों से सड़क पर हैं. उन्होंने सड़क पर ही खाना बनाने से ले कर खेती तक शुरू कर दिया है.

उधर केंद्र सरकार नित नये प्रस्ताव ले कर किसानों के समक्ष पेश हो रही है लेकिन किसान कृषि कानून रद्द करने के सिवा किसी पेशकश पर तैयार नहीं हो रहे हैं.


पंजाब में किसानों के आंदोलन को भरपूर समर्थन मिल रहा है। राजनीति से लेकर खेल जगत तक किसानों के पक्ष में अपनी आवाज बुलंद कर रहा है। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने पद्म विभूषण और राज्यसभा सांसद सुखदेव सिंह ढींढसा ने पद्मभूषण पुरस्कार लौटाने की घोषणा कर चुके हैं। वहीं, पंजाबी में साहित्य अकादमी पुरस्कार के विजेता पंजाब के प्रसिद्ध शायर डॉ. मोहनजीत, प्रख्यात विचारक डॉ. जसविंदर सिंह और पंजाबी नाटककार व एक अखबार के संपादक ने किसानों के समर्थन में अपने पुरस्कार लौटाने का एलान पहले ही कर चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*