फिसड्डी बिहार पर भागे नीतीश, जनता के दुख को तेजस्वी का स्वर

फिसड्डी बिहार पर भागे नीतीश, जनता के दुख को तेजस्वी का स्वर

बिहार की जनता को गरीबी ही नहीं मार रही, यहां का हेल्थ सिस्टम भी फिसड्डी। जानलेवा। इस सवाल पर नीतीश ने कहा, पता नहीं। तेजस्वी ने जनता के दुख को दिया स्वर।

जनता के दुख पर सत्ता का रुख क्या है, इसे समझने के लिए विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने एक वीडियो शेयर किया। वीडियो में एक पत्रकार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पूछा कि अस्पतालों में सुविधा, प्रति लाख आबादी पर बेड के मामले में बिहार फिसड्डी है, तो मुख्यमंत्री चल दिए। चलते-चलते कहा-पता नहीं। मुख्यमंत्री ने पता नहीं कहते हुए हाथ उठाकर इस तरह हिलाया, जैसे उन्हें कोई परवाह भी नहीं।

सवाल गंभीर था। बिहार की लगभग दस करोड़ आबादी से जुड़ा सवाल था। लेकिन मुख्यमंत्री ने कहा-पता नहीं। जनता के दुख को तेजस्वी यादव ने स्वर दिया।

पत्रकार: सर, नीति आयोग की रिपोर्ट में बिहार सबसे फिसड्डी है।

CM: “पता नहीं”

बिहार शिक्षा, स्वास्थ्य, सतत विकास सूचकांक में सबसे नीचे है।

CM: “पता नहीं”

बिहार के मंत्रियों, विधायकों के घर डकैती हो रही है। अपराध कई गुणा बढ़ गया है। 70 घोटाले हो चुके है।

CM: “पता नहीं”

तेजस्वी ने मुख्यमंत्री का जवाब देते वीडियो भी शेयर किया है, जिसे बिहार के हर नागरिक को देखना चाहिए कि उसकी बीमारी, परेशानी पर बिहार सरकार का क्या रुख है।

तेजस्वी ने एक और ट्वीट किया-

जनता: श्रीमान फिर आपको पता क्या है? CM: “नीति, नियम, सिद्धांत, विचार बेच कुर्सी से कैसे चिपके रहें, जनता के सवालों से कैसे छिपते रहें और अख़बारों में कैसे छपते रहें, यह सब पता है।”

जनता: तभी आपको 40 सीट मिली है और आप अनुकंपा पर CM है।

CM: “पता नहीं”

तेजस्वी के ट्वीट के बाद एक यूजर आमीर ने पिछले चुनाव का एक रोचक वीडियो शेयर किया है, जिसमें एक गांव वाले से पत्रकार पूछता है औपके गांव में विकास पहुंचा है, तो गांव के बुजुर्ग कहते हैं-विकास? हम नहीं थे यहां सर। बेमार थे। डॉक्टर के यहां गए थे।

ये है असली टुकड़े-टुकड़े गैंग, गांधी की हत्या सही बता रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*