एनटीपीसी बरौनी में नेत्र जांच शिविर में दो सौ मरीजों का हुआ फ्री चेकअप

एनटीपीसी बरौनी में नेत्र जांच शिविर में दो सौ मरीजों का हुआ फ्री चेकअप

 

 

 

बरौनी एनटीपीसी ने जनसरोकार के कार्यों में अपनी प्रतिबद्धता शुरू कर दी है। इसी के तहत बरौनी थर्मल अस्पताल में दो दिवसीय नि:शुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें करीब दो सौ लोगों का नेत्र जाँच कर उचित चिकित्सीय सलाह दी गईं।

शिवानंद गिरी की रिपोर्ट

एनटीपीसी बरौनी में  नेत्र जांच शिविर में दो सौ मरीजों का  हुआ फ्री चेकअप

 

 

 

 

नैगम सामाजिक दायित्व कार्यक्रम के तहत एनटीपीसी बरौनी अस्पताल में अथर्व नेत्र अस्पताल के सहयोग से 11 व 12 नवंबर को  आयोजित इस शिविर  में लोगों का  दृष्टिदोष जांच,  मधुमेह रोग से ग्रसित मरीजों के लिए रेटिना जांच के साथ- साथ मोतियाबिंद जांच अत्याधुनिक मशीन जैसे  ऑटो रिफ्रैक्टोमीटर, डायबिटिक रेटिनोपैथी  तथा रिफ्रैक्शन  से किया गया।

 

यह भी पढ़े- पटना जलप्रलय: मुस्लिम वि.वि. के डाक्टरों ने हेल्थ कैम्प में किया सैकड़ों का मुफ्त इलाज

जांच शिविर में आसपास गांव के ग्रामीण, बीटीपीएस में कार्यरत श्रमिक गण समेत केन्द्रीय सुरक्षा बल के जवान सहित 200 मरीज लाभान्वित हुए ।

सही समय पर इलाज करना जरुरी

जांच शिविर का उद्घाटन एनटीपीसी के महाप्रबंधक (प्रचालन एवं अनुरक्षण),  श्रीरवि द्वारा किया गया।  उद्घाटन के अवसर पर श्री रवि ने कहा कि आँखों की जांच नियमित तौर पर कराते रहने से किसी भी प्रकार की बीमारियों से पहले ही सचेत होया जा सकता है और उसका सही समय पर इलाज से फायदा होता है।

 

इस अवसर पर एनटीपीसी महाप्रबंधक श्री एस के पांडा, अपर महाप्रबंधक (मानव संसाधन)  सत्य प्रकाश दुबे, अपर महाप्रबंधक(संविदा एवं सामग्री) उमाशंकर गुप्ता, उप महाप्रबंधक  शशि शेखर, डॉ संजय कुमार, डॉ प्रकाश श्रीवास्तव, डॉ धीरज कुमार, मानव संसाधन प्रबंधक दिनकर शर्मा , केन्द्रीय सुरक्षा बल के उप समादेष्टा  पुरुषोत्तम मल्लिक, मैत्री महिला समाज की महासचिव श्रीमती.वीनू चौहान, उपसचिव श्रीमती उषा सिंह सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।

नेत्रदान के लिए सरकार चलाएगी जागरूकता अभियान

 

इस क्रम में अस्पताल के  मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर एस आर शर्मा द्वारा नेत्र जांच प्रकिया का निरीक्षण  अतिथियो को कराया गया।इस शिविर के आयोजन से लाभान्वित लोगों ने  प्रबंधन के इस प्रयास की काफी प्रशंसा करते हुए आगे भी नियमित तौर पर इसतरह के शिविर के आयोजन की मांग की है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*