‘गरीब की दुश्मन बनी नरेंद्र मोदी सरकार, महंगाई रोकने में फेल’

‘गरीब की दुश्मन बनी नरेंद्र मोदी सरकार, महंगाई रोकने में फेल’

जदयू के राष्ट्रीय सचिव राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में 84 फीसदी लोगों की आमदनी घट गई है। महंगाई रोकने और रोजगार देने में फेल।

जदयू के राष्ट्रीय सचिव राजीव रंजन प्रसाद ने ठोस आंकड़ों के साथ केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमला किया। कहा कि देश में गरीब का जीना मुश्किल हो रहा है, वहीं अरबपतियों की संख्या बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार आर्थिक मोर्चे पर पूरी तरह फेल हो गई है।

राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि महंगाई एवं बेरोज़गारी के ताज़ा आँकड़े मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की विफलता के आरोपों को प्रमाणित कर रहे हैं। श्री प्रसाद ने कहा कि साल 2021 में जहां भारत में 84 प्रतिशत परिवारों की आय में गिरावट दर्ज की गयी,वहीं भारतीय अरबपतियों की संख्या 102 से बढ़कर 142 हो गयी ।कुछ औद्योगिक घरानों को मिले राजकीय संरक्षण से यह सम्भव हो पाया। श्री प्रसाद ने कहा कि 2014 में बेरोज़गारी दर 5.4प्रतिशत थी जो मोदी सरकार के8वर्षों में बढ़कर6.3प्रतिशत हो गयी वहीं महंगाई दर 2014 में 6.67प्रतिशत थी जो अब 7 प्रतिशत हो गयी है।देश में 4 करोड़ युवा बेरोज़गार हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार भले ही पाँच बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में एक होने के लिए अपनी पीठ स्वयं थपथपा ले लेकिन उसे ग़रीबी रेखा से नीचे 20करोड़ लोगों की चिंता भी करनी होगी|इससे भी ज़्यादा त्रासद यह तथ्य है कि 23 करोड़ लोग प्रतिदिन 375 रुपए से कम कमा रहे हैं। श्री प्रसाद ने कहा कि आज 10 फ़ीसदी लोगों के पास देश की 45 प्रतिशत सम्पत्ति है।जबकि आधी आबादी के पास देश की कुल आय में मात्र 13 प्रतिशत का हिस्सा है।

इन 5 कारणों से कांग्रेस ने केजरीवाल को कहा संघ का छोटा रिचार्ज