मांझी के NDA में आने पर भाजपा ने कर दी बगावत

मांझी के NDA में आने पर भाजपा ने कर दी बगावत

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) से ठीक पहले जीतन राम मांझी की पार्टी का एनडीए में शामिल होने का भारतीय जनता पार्टी के नेता ने जोरदार विरोध किया है.

बीजेपी के पूर्व सांसद और मांझी के स्वजातीय नेता हरि मांझी ने खुलेआम कहा है कि वह जदयू और भाजपा नेताओं की हकमारी के लिए एनडीए में आये हैं और विधान परिषद का सदस्य बनना चाहते हैं.

हरि मांझी ने कहा कि जीतन राम मांझी के आने से एनडीए को तो कोई फायदा नहीं होगा, हां उनके परिवार को जरूर फायदा होने वाला है. हरि मांझी ने कहा कि महागठबंधन में शामिल हो कर मांझी ने अपने बेटे को विधान परिषद का सदस्य बनवा दिया और अब वह एनडीए में आ कर खुद विधान परिषद का सदस्य बनना चाहते हैं.

गौरतलब है कि हरि मांझी सांसद रह चुके हैं और वह भाजपा के मुसहर समाज के जाने माने चेहरा हैं.


हरि मांझी ने कहा कि जीतन राम मांझी का कोई जनाधार नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर उनके पास जनाधार होता तो वह लगातार 2015 और 2019 का चुनाव बुरी तरह से नहीं हारते.

हरि मांझी गया सुरक्षित लोकसभा सीट पर 2014 में सांसद चुने गये थे. जबकि उससे पहले 2005 से ले कर 2009 तक वह विधान सभा सदस्य रह चुके हैं.

गौरतलब है कि जीतन राम मांझी का हिंदुस्तान अवाम मोर्चा कल ही एनडीए का हिस्सा बनने का ऐलान किया है. इससे पहले जीतन राम मांझी ने नीतीश कुमार से मुलाकात की थी.

आपक को याद दिला दें कि पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी इससे पहले महागठबंधन का हिस्सा थी लेकिन विगत 20 अगस्त को मांझी ने महागठबंधन से अलग होने का ऐलान कर दिया था. कल ही उन्होंने एनडीए में शामिल होने की घोषणा की और आज उनके खिलाफ बगावती सुर दिखने लगे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*