हो गया बड़ा एलान, छह फरवरी को क्या करेंगे किसान

हो गया बड़ा एलान, छह फरवरी को क्या करेंगे किसान

एक तरफ सरकार सिंघु बॉर्डर पर कंक्रीट के बेरिकेड बनाने में जुटी है, दूसरी तरफ किसानों ने आज बड़ा एलान कर दिया। अब सबकी नजर छह फरवरी पर है।

कुमार अनिल

आज ट्विटर ने किसान एकता मोर्चा का ट्विटर अकाउंट बंद कर दिया। किसानों, पत्रकारों पर एफआईआर हो रहे हैं। लेकिन इससे किसान आंदोलन थम नहीं रहा है, बल्कि संयुक्त किसान आंदोलन के नेताओं ने छह फरवरी को नेशनल हाईवे बंद करने का एलान कर दिया।

नेशनल हाइवे को तीन घंटों के लिए बंद करने की घेषणा तीन मांगों को लेकर की गई है। पहली मांग है तीन कृषि कानूनों को रद्द करे सरकार। दूसरी मांग है किसानों, पत्रकारों पर जुल्म बंद हो। पानी, बीजली तक बंद कर दिया गया है, जबकि यह मौलिक अधिकार है। सरकार की जिम्मेवारी है पानी की व्यवस्था करना। तीसरी बात है, आज जो बजट पेश किया गया है, वह किसान विरोधी है। कॉरपोरेट के पक्ष में है, उसके विरोध में। नेशनल हाइवे छह फरवरी को 12 बजे दिन से 3 बजे तक जाम करने का एलान किया गया है।

तेजस्वी-देश बेचने वाले बजट पर NDA के MP थपथपाते रहे मेज

प्रेस कॉन्फ्रेंस में योगेंद्र यादव ने एक अहम बात कही। कहा- बजट में एमएसपी की चर्चा करते हुए सरकार ने कृषि उपज की खरीद के आंकड़े दिए हैं। सरकार कृषि उपज खुद नहीं खरीदती, बल्कि यह काम एफसीआई करता है। सरकार उसे लोन देती है। पिछली बार सरकार ने इस मद में एक लाख 36 हजार 600 करोड़ रुपए रखे थे। हालांकि खर्च 85 हजार करोड़ से भी कम किया। इस बार सरकार ने इस मद में एक पैसा भी नहीं रखा है। योगेंद्र यादव ने आशंका जताई कि सरकार एफसीआई को समाप्त करने की कोशिश कर रही है।

एक्टिविस्टों का अकाउंट बंद करने पर ट्विटर के खिलाफ महासंग्राम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*