FEATURE

इस जांबाज अधिकारी ने हरियाणा सरकार व वाड्रा की नींदे हराम कर दी

इस ईमानदार आईएएस अधिकारी ने भले ही अब तक 43 तबादले का दंश झेला हो पर अपने जीवट से हरियाण सरकार और वाड्रा परिवार की नींदें हराम कर दी हैं. हरियाणा के भूमि सुदृढ़ीकरण एवं भूमि रिकॉर्डस महानिदेशक सह पंजीकरण महानिरीक्षक अशोक खेमका ने वाड्रा द्वारा डीएलएफ को बेची गई जमीन के सौदे को रद्द कर दिया इसके बाद अशोक ...

Read More »

मधुबनी जल उठा कौन है जिम्मेदार- जनता या नौकरशाही?

इर्शादुल हक मां ने पैर, नाखुन कपड़े से बेटे को पहचान लिया पर मधुबनी पुलिस ने मां के ममतत्व को झुठला दिया वह भी एक अधीकारी को बचाने के लिए फिर मधुबनी जल उठा. कौन है जिम्मेदार- जनता या नौकरशाही? वह दुनिया की कौन मां होगी जो अपने जिगर के टुकरे को नहीं पहचान सके. माना की प्रशांत का सर ...

Read More »

जानिए नीतीश से नाराज़गी के पांच कारण

उन पांच कारणों को जानिए जिसके कारण बिहार की जनता उग्र विरोध पर आमादा हो गई है. नौकरशाही डॉट इन ने समाज के अनेक लोगों से यह जानना चाहा कि आखिर बिहार की जनता नीतीश कुमार की सभाओं में अचानक क्यों उत्पात पर आमादा है. हम यहां कोई दर्जन भर लोगों की प्रतिक्रिया में से पांच महत्वपूर्ण कारणों को आप ...

Read More »

‘बनाना रिपब्लिक’ आख़िर क्या बला है, वॉड्रा ने ये कह क्यों किया फ़ेसबुक अकाउंट बंद?

रॉबर्ट वाड्रा साहब को अब आप फेसबुक पर नहीं खोज सकते. उन्होंने अपना अकाउंट बंद कर दिया. अचानक ऐसा क्या हो गया कि उन्हें यह क़दम उठाना पड़ा. अरविंद केजरीवाल के भ्रष्टाचार के आरोप झेल रहे वाड्रा ने झुल्ला कर फेसबुक पर कमेंट लिखा मैंगो पीपुल इन बनाना रिपब्लिक. यह आम तौर नाकारात्मक वाक्य माना जाता है. बनाना रिपब्लिक वैसे ...

Read More »

छेड़खानी मामले में गिरफ़्तारी के बाद नौकरशाहों में जबरदस्त जातीय खेमाबंदी

आईएएस अधिकारी शशिभूषण सुशील द्वारा गूगल में काम कने वाली महिला के साथ कथित रूप से छेड़छाड़ करने की घटना ने यूपी की नौकरशाही को जातीय खेमे में बांट कर रख दिया है. नौकरशाहीडॉट इन के सम्पर्क में आये कुछ नौकरशाहों ने स्वीकार किया है कि पिछले तीन दिनों में प्रशासनिक सेवा के अलग अलग ग्रूपों के अधिकारी इस संबंध ...

Read More »

नीतीश जी यह आपके सात साल के शासनकाल का कठिनतम दौर है

—इर्शादुल हक— अचानक बिहार में यह क्या हो गया है. नेपाल की सरहद से लगे मधुबनी से लेकर पश्चिम बंगाल की सीमा से सटे पूर्णिया तक की जनता आख़िर क्यों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विरोध में उतर आई है? बिहार की यही जनता जिसने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सर-आखों पर बिठाये नहीं थकती थी अब क्यों उनके विरोध पर आमादा ...

Read More »

नीतीश की अधिकार यात्रा को “विरोध” और “वेदना” की चुनौती

नीतीश कुमार की अधिकार यात्रा को अब वेदना और विद्रोह से चुनौती मिलने लगी है. पिछले एक हफ़्ते में नीतीश की रैलियों में जहां आम लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है वहीं पूर्णिया में भाजपा के सांसद उदय सिंह ऐन अधिकार रैली के दिन वेदना रैली का आयोजन कर के इस विरोध को और तीव्रता देने ...

Read More »

लालू राबड़ी गये नतीश आये, पर इनकी कुर्सी जाती नहीं

बिहार में पिछले दो दशक में कई मुख्यमंत्री आये और गये पर इनका सत्ता सिंहासन जस तक तस कायम है. वैसी कौन सी बात है कि वीपीसी नाम से चर्चति इस अधिकारी को कोई आज तक डिगा नहीं सका? इस अधिकारी को ढूंढ़ निकाला है विनायक विजेता ने– कहते हैं कि पद जितना ऊंचा होता है वह उतना ही अस्थाई ...

Read More »

इसे कहते हैं स्मार्ट कुकर्म

निधि के मां-बाप उस हेल्थ रिपोर्ट को फाड़ डालना चाहते हैं जिसमें दर्ज है कि उनकी बेटी मां नहीं बन सकती क्योंकि यह सारी रिपोर्ट डॉक्टरों का स्मार्ट कुकर्म, फरेब और झूट है.हमारे उत्तर बिहार संवाददाता पंकज कमुार इस कुकर्म की पेचीदगियों पर रौशनी डाल रहे हैं. समस्तीपुर की 13 वर्षीय निधि के मां-बाप की चिंता यह है कि जब ...

Read More »

“नौकरशाही घोड़े जैसा आचरण करती है…”

दैनिक जागरण, जारखंड के स्थानीय सम्पादक कमलेश रघुंवंशी लिखते हैं कि नौकरशाही घोड़े जैसा व्यवहार करती है. अगर उसका सवार जानकार हुआ तो घोड़ा सरपट दौडता है. पढिए आखिर रघुवंशी ने ऐसा क्यों कहा.. कमलेश ने यह बात अपने एक लेख में कही है. दर असल वह झारखंड की राजनीति और नौकरशाही के दावपेंच पर टिप्पणी कर रहे थे. उनकी ...

Read More »