सोशल मीडिया

बहुआयामी व्यक्तित्व के साहित्यकार और संस्कृति-कर्मी थे विजय अमरेश

मृदुभावों के चर्चित कवि विजय अमरेश बहुआयामी व्यक्तित्व के साहित्यकार और संस्कृति–कर्मी थे। उनके साहित्य और संस्कृति–कर्म के अनेक आयाम थे। वे एक संवेदनशील कवि, प्रतिभावान नाटककार, प्रभावशाली उद्घोषक और निष्ठावान संस्कृति–कर्मी थे। उनके हृदय में निरंतर कुछ नवीन और बड़ा करने की अग्नि प्रज्वलित रहती थी। उनकी आँखों में वह चमक और दृष्टि देखी जा सकती थी।  यह बातें आज यहाँ ...

Read More »

भारतीय मुसलमानों के लिए हिजरत अनिवार्य नहीं

 हिजरत मक्का से मदीना की यात्रा प्रत्येक मुसलमान का व्यक्तिगत पवित्र कर्तव्य है. लेकिन मक्का में खतरों के कारण इस्लाम के अनुयायियों के शांतिपूर्वक जीवन जीने एवं धार्मिक आचरण में बाधा आने लगी तो पैगंबर हजरत मोहम्मद साबह ने अपने साथियों को मदीना चले जाने को कहा था.   हिजरत मक्का से मदीना की यात्रा प्रत्येक मुसलमान का व्यक्तिगत पवित्र ...

Read More »

टीवी एंकर अंजना ओम कश्‍यप ने तेजस्‍वी की भावना पर किया तंज, बदले में मिला करारा जवाब

बिहार के पूर्व उपमुख्‍यमंत्री सह राजद नेता तेजस्‍वी यादव और देश की चर्चित एंकर अंजना ओम कश्‍यप के बीच भी ट्विटर वार शुरू होता दिख रहा है। यही वजह है कि जब अंजना ने तेजस्‍वी यादव की भावना पर सवाल खड़े किये, तो तेजस्‍वी ने उन्‍हें करारा जवाब दिया। नौकरशाही डेस्‍क दरअसल, बीते दिनों उत्तर प्रदेश में सपा नेता अखिलेश ...

Read More »

औरत जात का सफरनामा

कोख के अंधेरे से लेकर कब्र के अंधेरे तक लगातार और अथक संघर्ष मगर संघर्ष का इतिहास ये कहता है कि दुनिया की तमाम चिंतनशील औरतों ने कलम से, कर्म से और खामोश आँसुओं से भी फसाने लिखे हैं. ऋग्वेद दुनिया की पहली किताब है जिसमें २७ औरतों ने भी मुक्तमन से अपना चिंतन पेश किया था. आभा दूबे सूर्या,सावित्री ...

Read More »

चिदंबरम के बाद तेजस्‍वी ने भी दिया कन्‍हैया के पक्ष में बयान, जानिये क्‍या कहा

JNUSU के पूर्व प्रेसिडेंट कन्हैया कुमार पर देश विरोधी भाषण देने के मामले पर चार्जशीट दायर होने के बाद राजद नेता तेजस्‍वी यादव ने पहली बार उनके समर्थन में बयान दिया और कहा कि जो भी भाजपा के खिलाफ बोलता हैं। उसके खिलाफ केस दर्ज होता है। मालूम हो कि इससे पहले कांग्रेस वरिष्‍ठ नेता व पूर्व गृह मंत्री पी ...

Read More »

अनोखे पोस्‍टर के जरिये तेजप्रताप यादव ने किया राम विलास पासवान पर हमला

राजनीति में पोस्‍टर वार कोई नई चीज नहीं है। मगर आज राजद के युवा नेता व पूर्व स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री तेजप्रताप यादव ने एक अनोखे पोस्‍टर के जरिये लोक जनशक्ति पार्टी के सुप्रीमो राम विलास पासवान पर हमला बोला है। इस पोस्‍टर में सांकेतिक रूप से बिहार की पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी को देवी दुर्गा  के अवतार में है और खुद ...

Read More »

गुरु गोविंद सिंह महाकवि और पराक्रमी संत थे

भारतीय मनीषा के महान व्याख्याकार थे स्वामी विवेकानंद विश्व हिन्दी संवर्द्धन समिति,भारत विकास परिषद और प्रबुद्ध हिन्दु समाज ने दोनों विभूतियों की जयंती मनाई  सिख-पंथ के दसवें गुरु और खालसा-पंथ के संस्थापक गुरूगोविंद सिंह किसी धर्म के नहीं अत्याचारी शासन व्यवस्था के विरुद्ध थे। वे एक पराक्रमी और वलिदानी संत हीं नहीं एक महान कवि भी थे। उन्होंने साहित्य का ...

Read More »

नीतीश कुमार द्वारा महागठबंधन के भविष्य पर सवाल उठाने से भड़के लालू, कहा – पलटू दगाबाजों को शर्म भी नहीं आती

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा महागठबंधन के भविष्य पर सवाल खड़े करना राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को नागवार गुजरा और उनकी ओर से तीखी प्रतिक्रिया आयी है। इस मामले में लालू यादव के ट्विटर अकाउंट के जरिये कहा गया है कि पलटू दगाबाजों को शर्म भी नहीं आती ? नौकरशाही डेस्क बता दें कि महागठबंधन का कन्सेस लालू ...

Read More »

मदरसों में रोजगारपरक, आधुनिक और सेक्युलर मूल्यों पर आधारित शिक्षा की जरूरत

Madarsa Education

मुस्लिम बुद्धिजीवी वर्ग, रिफॉर्मिस्ट और सामुदायिक लीडर समाज के विकास और सशक्तीकरण के लिए चिंतित रहते हैं. लिहाजा ये वर्ग मदरसों में आधुनिक व रोजगारपरक शिक्षा के साथ सेक्युलर मूल्यों पर आधारित शिक्षा व्यवस्था पर जोर देता हैं.   मुस्लिम बुद्धिजीवी वर्ग, रिफॉर्मिस्ट और सामुदायिक लीडर्स अपने समाज के विकास और सशक्तीकरण के लिए चिंतित रहते हैं. लिहाजा ये वर्ग ...

Read More »

आसमान में उड़ल तिरंगा/ एक्कर शान कहल नहि जाय/ 

अंगिका के ऋषि–तुल्य साधक–कवि थे डा नरेश पाण्डेय चकोर  जयंती पर साहित्य सम्मेलन में आयोजित हुआ लोकभाषा कवि–सम्मेलन पटना,३ जनवरी। अंगिका भाषा और साहित्य के लिए अपना संपूर्ण जीवन न्योक्षावर करने वाले कवि डा नरेश पाण्डेय ‘चकोर‘कोमल भावनाओं से युक्त एक रशि–तुल्य भक्त कवि और साहित्यकार थे। अंगिका में उनका प्राण बसता था। डेढ़ सौ से अधिक छोटी–बड़ी पुस्तकों से उन्होंने ‘अंगिका‘का ...

Read More »