सोशल मीडिया

साहित्य सम्मेलन का 40वां अधिवेशन में गांधी के दर्शन और साहित्य की दिखी झलक

साहित्य सम्मेलन का 40वां अधिवेशन में गांधी के दर्शन और साहित्य की दिखी झलक आधनिक हिन्दी साहित्य के महान पुरोधा हैं आचार्य देवेंद्र नाथ शर्मा हिन्दी साहित्य सम्मेलन के ४०वें महाधिवेशन में देश की दोनों विभूतियों को किया गया श्रद्धापूर्वक स्मरण  ‘विद्या–वारिधि‘की उच्च मानद–उपाधि से विभूषित हुईं न्यायमूर्ति मृदुला मिश्र  सम्मानित हुए अनेक विद्वान,कवि–सम्मेलन में कवियों और कवयित्रियों ने जमाया ...

Read More »

हिन्दी साहित्य सम्मेलन का ४०वाँ महाधिवेशन शनिवार को

हिन्दी साहित्य सम्मेलन का ४०वाँ महाधिवेशन शनिवार को ‘विद्या–वारिधि‘की उच्च उपाधि से विभूषित होंगी न्यायमूर्ति मृदुला मिश्र  सम्मानित होंगे कई विद्वान , होगा कवि–सम्मेलन और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी, महात्मा गांधी और आचार्य देवेंद्र नाथ शर्मा को समर्पित है पूरा आयोजन   २ मार्च को प्रातः १० बजे से आरंभ हो रहे, बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन के ४०वें महाधिवेशन में चाणक्य राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की ...

Read More »

मदरसों में आधुनिक, रोजगारपरक तथा धर्मनिरपेक्ष शिक्षा को बढ़ावा देने की आवश्यकता

मदरसों में आधुनिक, रोजगारपरक तथा धर्मनिरपेक्ष शिक्षा को बढ़ावा देने की आवश्यकता मुस्लिम समुदाय का बुद्धिजीवी सुधारवादी तथा नेता वर्ग मदरसों में धर्म निरपेक्ष, आधुनिक और रोजगार परक शिक्षा की कमी पर बात करते समय कुल मिलाकर मुसलमानों की स्वतंत्रता प्रगति तथा उनके सशक्तिकरण को लेकर चिंता व्यक्त करता है. कुछ मुसलमान अपने साथ पर्याप्त भेदभाव किए जाने की शिकायत ...

Read More »

‘न्यूज चैनल जो भी करते हैं, जब भी करते हैं बस एक नेता के लिए करते हैं जिनका नाम है नरेंद्र मोदी’

 ‘न्यूज चैनल जो भी करते हैं, जब भी करते हैं बस एक नेता के लिए करते हैं जिनका नाम है नरेंद्र मोदी’ पत्रकार रवीश कुमार कहते हैं कि  न्यूज चैनलों में  नौजावनों के सवालों के लिए जगह नहीं होती मगर चैनल अपना सवाल पकड़ा कर उन्हें मूर्ख बना रहे हैं। चैनलों को ये सवाल कहां से आते हैं, आपको पता ...

Read More »

विख्यात साहित्यकार मुशर्रफ आलम ज़ौक़ी बने राष्ट्रीय सहारा उर्दू के ग्रूप एडिटर, बधाइयों से पटा सोशल मीडिया

विख्यात साहित्यकार मुशर्रफ आलम ज़ौक़ी बने राष्ट्रीय सहारा उर्दू के ग्रूप एडिटर, बधाइयों से पटा सोशल मीडिया उर्दू के विख्यात आलोचक व कहानीकार मुशर्रफ आलम जौकी राष्ट्रीय सहारा उर्दू के ग्रुप एडिटर बनाये गये हैं. यह अखबार दिल्ली, मुम्बई, पटना, गोरखपुर, कानपुर, लखनऊ, बैंगलोर, हैदराबाद और कोलकाता से एक साथ सात राज्यों से प्रकाशित होता है. मुशरर्फ आलम जौकी ने ...

Read More »

अतिवाद को रोकने के लिए जरूरी है बहुसंस्कृतिवाद और पारस्परिक सहनशीलता

अतिवाद को रोकने के लिए जरूरी है बहुसंस्कृतिवाद और पारस्परिक सहनशीलता भारत की बहुसंस्कृतिवाद, पारस्परिक सहनशीलता और अंतर-धर्म समानता की विरासत रही है. इसी ने लोगों को एक दूसरे को अनंत काल से जोड़े रखा है. इसमें गंगा-जमुनी तहजीब को कायम रखना या उससे और अधिक सशक्त करना तथा लोगों के बीच समन्वयी संस्कृति शामिल है. वास्तव में देश की ...

Read More »

भारतीय सेना ने लिया पुलवामा का बदला, किया जैश के ठिकानों पर बड़ा हमला 

भारतीय सेना ने लिया पुलवामा का बदला, किया जैश के ठिकानों पर बड़ा हमला सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि आज अहले सुबह भारतीय वायु सेना की ओर से पाक अधिकृत कश्मीर में एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक, 26 फरवरी को 03:30 बजे भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने नियंत्रण ...

Read More »

हिन्दी साहित्य के महान और प्रतापी साहित्यकार थे आचार्य नलिन विलोचन शर्मा 

नलिन जी के साहित्यिक व्यक्तित्व और कृतित्व पर डा कल्याणी कुसुम सिंह की पुस्तक का हुआ लोकार्पण  आयोजित हुआ कवि-सम्मेलन पटना, मात्र पैंतालिस वर्ष की आयु में हिन्दी के सृजनात्मक साहित्य और साहित्यालोचन को हिमालयी गरिमा प्रदान करने वाले समालोचक,आचार्य नलिन विलोचन शर्मा हिन्दी भाषा और साहित्य के महान उन्नायक और प्रतापी समीक्षक थे। उन्होंने गद्य और पद्य की प्रायः सभी ...

Read More »

मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण समेत चार अध्‍यादेशों को राष्‍ट्रपति ने दी मंजूरी

मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण समेत चार अध्‍यादेशों को राष्‍ट्रपति ने दी मंजूरी राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरूवार को मुस्लिम महिला (मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण) समेत चार अध्‍यादेशों को मंजूरी दे दी है। मुस्लिम महिला (मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण) दूसरा अध्‍यादेश, 2019 के जरिये मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण अध्‍यादेश, 2019 के प्रावधानों को बनाये रखने के लिए लाया गया ...

Read More »

शांति और भाईचारे के पैगम्बर मोहम्मद ने ताकत के बेजा इस्तेमाल व आक्रामकता को नकारा

पैगम्बर मोहम्मद साहब ईमानदारी, सच्चाई और मानवता के अलमबरदार थे. वह पड़ोसियों के साथ अच्छे सुलूक के हामी थी.कमजोरों पर रहम करते थे. जरूरतमंदों के लिए हर समय मददगार रहते थे. ऐसा करते हुए वह मुस्लिम या गैरमुस्लिम के भेद को कत्तई नहीं मानते थे. वह किसी पर भी अपनी विचारधारा थोपने के खिलाफ थे. पैगम्बर मोहम्मद साहब ने फरमाया ...

Read More »